गढ़वाल विश्वविद्यालय के पर्यटन विभाग की गांधी पर्यटन-पथ डॉक्यूमेंट्री का विमोचन

गढ़वाल विश्वविद्यालय के पर्यटन विभाग  की गांधी पर्यटन-पथ डॉक्यूमेंट्री का विमोचन
Spread the love

श्रीनगर। समय-समय पर महात्मा गांधी के देवभूमि उत्तराखंड प्रवास को डॉक्यूमेंट्री में शानदार तरीके से उकेरा गया है। गांधी पर्यटन-पथ नाम की डॉक्यूमेंट्री में बताया गया है कि महात्मा गांधी छह बार देवभूमि आए।

सोमवार को हेमवतीनंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के पर्यटन विभाग द्वारा ’ उत्तराखंड में गांधी पर्यटन-पथ’ नाम से बनाई डॉक्यूमेंट्री का स्टूडेंट एक्टिविटी सेंटर चौरास में विमोचन किया गया। महात्मा गांधी का उत्तराखंड से विशेष लगाव रहा था यही कारण था वो अपने जीवनकाल में अलग अलग समय में छह बार उत्तराखंड के भ्रमण पर आये।

कार्यक्रम का शुभारंभ एवं अथितियों का स्वागत करते हुए करते हुए विभागाध्यक्ष प्रो. गुप्ता ने महात्मा गांधी जी के उत्तराखंड प्रवास के विषय में जानकारी दी . इसके बाद कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रो डीआर. पुरोहित , गांधीवादी चिन्तक प्रो हिमांशु बौड़ाई तथा विभागाध्यक्ष प्रो गुप्ता ने डॉक्यूमेंट्री का विधिवत विमोचन किया।

करीब 23 मिनट की इस डॉक्यूमेंट्री के माध्यम से महात्मा गांधी के द्वारा अलग अलग समयों में की गई यात्रा को खूबसूरती के साथ फिल्माया गया है ,जिसमें हरिद्वार ,ऋषिकेश ,देहरादून ,मसूरी से लेकर नैनीताल ,अल्मोड़ा ,ताकुला अनाशक्ति आश्रम कौसानी एवं बागेश्वर की यात्राओं को दिखाया गया है साथ ही इन पर्यटके स्थानों को विशेष केंद्रित किया गया है । इसमें प्रयुक्त डॉ संजय पांडे तथा लता पांडे द्वारा महात्मा गांधीजी के प्रिय भजन वैष्णव जन का गढ़वाली में गायन ने दर्शकों का मन मोह लिया ।

इस डॉक्यूमेंट्री के निर्माण में विशेषज्ञ के रूप भूमिका निभाने वाली प्रो हिमांशु बौड़ाई ने उत्तराखंड में महात्मा गांधी जी के द्वारा भ्रमण किये गए स्थानों को पर्यटन के नक्शे पर अंकित करने के साथ ही महात्मा गांधी जी के विचारों को भी आत्मसात करने का आह्वान किया उन्होंने कहा कि जहां दुनियाभर में उनके नायकों से जुड़ी धरोहरों को पर्यटक तथा ऐतिहासिक महत्व की दृष्टि से सहेजकर रखा जा रहा है वहीं उत्तराखंड में इस मामले में उदासीनता देखने को मिली है ।

इसके पश्चात मुख्य अतिथि डॉ डीआर पुरोहित ने सबसे पहले इसके डॉक्यूमेंट्री के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता डॉ सर्वेश उनियाल को इसके लिये शुभकामनाएं देते हुए उनके कार्यों की सराहना की । इससे पहले भी उनके द्वारा स्वामी विवेकानंद के जीवन पर आधारित डॉक्यूमेंट्री का निर्माण किया गया है । डॉ पुरोहित जी ने गांधी जी के बारे में जानकारियां देते हुए उन्हें आदर्शों तथा उनकी शिक्षाओं को जीवन में उतारने के लिए उत्तराखंड के गांधीवादी चिंतको का उल्लेख किया।

इस डॉक्यूमेंट्री का निर्देशन सीएस चौहान के द्वारा किया गया तथा महेश पैन्यूली और हरीश भट्ट फोटोग्राफी संयोजक हैं । इस कार्यक्रम में अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रोफेसर एमएस नेगी,राजनीति विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो एमएम सेमवाल , डा सर्वेश उनियाल , प्रो सुन्द्रियाल ,प्रो राजपाल सिंह नेगी , आदि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे । कार्यक्रम का संचालन डा पुष्कर सिंह नेगी ने किया।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.