देवप्रयाग तहसील दिवसः 65 शिकायतें दर्ज, डीएम इवा आशीष ने अधिकारियों को दिए कड़े निर्देश

देवप्रयाग तहसील दिवसः 65 शिकायतें दर्ज,  डीएम इवा आशीष ने अधिकारियों को दिए कड़े निर्देश
Spread the love

देवप्रयाग। जन शिकायतों के निस्तारण में किसी भी स्तर पर लापरवाही क्षम्य नहीं है। ऐसा होने पर जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जन समस्याओं का निराकरण हर हाल में किया जाए।

ये कहना टिहरी की जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव का। डीएम मंगलवार को देवप्रयाग में आयोजित तहसील दिवस की अध्यक्षता कर रही थी। तहसील दिवस में 65 शिकायतें दर्ज हुई। इसमें अधिकांश का मौके पर निस्तारण कर दिया गया। कुछ शिकायतों को निस्तारण हेतु संबंधित विभागों के हवाले किया गया।

इस मौके पर जिलाधिकारी ने शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए एक माह के भीतर निस्तारित करने के निर्देश दिये गये। साथ ही गंभीर शिकायतों पर प्राथमिकता के आधार पर त्वरित करवाई करते हुए निस्तारित करने के निर्देश दिए, ताकि लाभर्थियों को उसका समय से लाभ मिल सके। कहा कि अगर किसी अधिकारी के स्तर से लापरवाही नजर आती है तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

तहसील दिवस में अधिकांश शिकायतें समाज कल्याण, जल निगम, जल संस्थान, विद्युत, लोक निर्माण विभाग, पीएमजीएसवाई, पूर्ति विभाग, शिक्षा विभाग, पशुपालन आदि विभागों से संबंधित रही। नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष कृष्ण कान्त कोटियाल द्वारा वार्ड सख्या-01 भ्वीट गदेरे पर एनएच-58 के डंपिंग जोन का समतलीकरण किए जाने का अनुरोध किया गया, जिस पर जिलाधिकारी ने डंपिंग जोन के समतलीकरण के संबंध में एसडीएम देवप्रयाग एवं अधिशासी अभियंता एनएच श्रीनगर को प्राथमिकता के साथ अनिवार्य रूप से 15 दिन के अंदर अतिरिक्त मटीरियल को किसी अन्य स्थान पर डंप करने के निर्देश दिए।

प्रधान ग्राम पंचायत उमरी सुरेशा देवी द्वारा ग्राम सभा उमरी क्षेत्र अंतर्गत आवारा पशुओं को अन्यत्र एवं स्थाई समाधान करने का करने का अनुरोध किया गया, जिस पर जिलाधिकारी ने एएमए जिला पंचायत एवं एसडीएम देवप्रयाग को स्थाई अथवा अस्थाई शेड निर्माण कर देखभाल हेतु व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

अरण्यक जन सेवा संस्था द्घारा बागी देवप्रयाग में निराश्रित गौवशं की गौशाला के विस्तारीकरण हेतु अनापत्ति प्रदान करने का अनुरोध किया गया, जिस पर जिलाधिकारी ने एएमए जिला पंचायत एवं सीवीओ को तत्त्काल वार्ता करने के निर्देश दिये।

नेत्र सिंह एवं जगपाल सिंह ग्राम डोबरी द्वारा ऋषिकेश-बद्रीनाथ एनएच 58 में चौड़ीकरण से 35 नाली भूमि तथा 15 नाली भूमि पर मलबा डालने से बर्वाद होने की शिकायत की गई, जिस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम देवप्रयाग को रिपोर्ट उपलब्ध कराने तथा अधि०अभि० एनएच व एसएलओ को समुचित आख्या उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

अध्यक्ष प्रधान संगठन देवप्रयाग सोबन सिंह चौहान ने विकास खण्ड देवप्रयाग हिन्डोलाखाल के अन्तर्गत केन्द्रीय विद्यालय खोलने की मांग की गयी, जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षाधिकारी को एक सप्ताह के अन्दर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। गीता भट्ट मन्दिर मौहल्ला देवप्रयाग ने नौ माह से विकलांग पेन्शन न मिलने की शिकायत की।

प्रकरण को सहायक समाज कल्याण अधिकारी को प्रेषित करते हुए तत्काल नियमानुसार भुगतान करने के निर्देश दिये। विनोद टोडरिया ने देवप्रयाग की आईटीआई को पुनः संचालित करने के अनुरोध पर जिलाधिकारी ने एसडीएम देवप्रयाग एवं प्रधानाचार्या को आईटीआई को विधिवत संचालित कराने के निर्देश दिये।

साथ ही गोर्थीकांडा, सजवाणकांडा, बामण, बौंठ मोटर मार्ग दबान का मुआवजा न मिलने की शिकायत की गई, जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता पीएमजीएसवाई नरेंद्र नगर को अब तक कार्रवाई क्यों नहीं हुई और कब तक होगी समुचित आख्या उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। विनोद टोडरिया देवप्रयाग द्वारा शांति बाजार का सीवरेज मेला भागीरथी नदी में बहने की शिकायत की गई, जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता जल संस्थान को 15 दिन के अंदर प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

इस मौके पर भरपूर पंपिंग योजना में नियमित पानी की आपूर्ति न होने, ऑनलाइन राशन कार्ड के कारण राशन उपलब्ध होने, क्षेत्र के मुख्य स्थलों पर हैंडपंप लगाने, पौड़ी तहसील तिराहा पर प्रतीक्षालय बनाने,पालिका क्षेत्र में बन्दरों के आतंक से निजात दिलाने, पालिका क्षेत्र में गैस एजेन्सी खोले जाने, पालिका क्षेत्र में गौशाला हेतु भूमि उपलब्ध कराने, न.पा. देवप्रयाग का भू-राजस्व रिकार्ड उपलब्ध कराने,चौकी गोविन्दपुरम राष्ट्रीय राजमार्ग के नीचे निकाय की स्वामित्व की भूमि पर सार्वजनिक शौचालय निर्माण करने, लक्ष्मोली मोटर मार्ग पर स्थान हिंसरियाखाल में वर्षा जल निकासी हेतु नाली के निर्माण, सजवाण कांड पम्पिंग योजना की सफाई आदि शिकायतें भी दर्ज की गई।

दो ग्राम पंचायत भड़ोली एवं भल्ले गांव के रा.प्रा.विधायक घंडियालधार भवन के क्षतिग्रस्त होने से बच्चों को खतरा बना हुआ है, जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को जिला योजना, राज्य एक्टर एसडीआरएफ आदि में प्रस्तावित कर अवगत करने के निर्देश दिए। राजकीय इण्टर कालेज हिंसरियाखाल में पेड़ से स्कूल व छात्र-छत्राओं को खतरा बना होने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने पेड़ को कटवाने के निर्देश सम्बन्धित डीएफओ को दूरभाष पर दिये।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने हरेला पर्व के अन्तर्गत तहसील परिसर में जामुन का पौधा भी रोपित किया । इस अवसर पर डीडीओ सुनील कुमार, एसडीएम देवप्रयाग सोनिया पंत, सीएमओ डॉ. संजय जैन, अध्यक्ष नगरपालिका देवप्रयाग मुख्य कृषि अधिकारी अभिलाषा भट्ट, जीएम डीआईसी महेश प्रकाश, मुख्य शिक्षा अधिकारी एल.एम. चमोला, एडीआईओ भजनी भंडारी, जिला क्रीड़़ा अधिकारी संजीव पौरी, जिला आयुर्वेदिक एवं युनानी अधिकारी सुभाष चंद, तहसीलदार देवप्रयाग मानवेन्द्र बर्त्वाल, एसडीओ यूपीसीएल अजय सेमवाल, ई.ई. आर.डब्लू.डी. घनसाली मीनल गुलाटी, एडीपीआरओ राकेश शर्मा, सहा. समाज कल्याण अधिकारी मनीष तिवारी, एडीओ हॉर्टिकल्चर वंशिका थपलियाल, एडीओ कोऑपरेटिव उमा बिष्ट सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं क्षेत्रीय ग्रामवासी मौजूद रहे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.