लैंगिक हिंसा से निपटने को आगे आए समाज

लैंगिक हिंसा से निपटने को आगे आए समाज
Spread the love

गवर्नमेंट पीजी कॉलेज जयहरीखाल में लैंगिक हिंसा पर कार्यशाला

तीर्थ चेतना न्यूज

जयहरीखाल। लैंगिक हिंसा पर प्रभावी अंकुश के लिए कानून के साथ ही समाज को भी संवेदनशील होने की जरूरत है। ताकि लैंगिक हिंसा करने वालों को हतोत्साहित करने का माहौल बन सकें।

ये कहन है वक्ताओं का। मौका था गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, जयहरीखाल के रोवर्स रेंजर्स के तत्वधान मे “लैंगिक हिंसा पर आयोजित कार्यशाला का। कार्यशाला का उदघाटन करते हुए हुए कॉलेज की प्रिंसिपल प्रो. लवनी रानी राजवंशी द्वारा किया गया ,उन्होंने कहा की लैंगिक हिंसा से निपटने के लिए समाज को संवेदनशील बनाने की जरूरत है।

मुख्य वक्ता डॉ0 श्रद्धा भारती ने कहा लैंगिक हिंसा के शिकार महिलाओं की पहुंच न्याय तक सुलभ कराने के लिए महिलाओं के पास सबसे मजबूत हथियारों में से एक सोशल मीडिया है, अगर हमे कार्यस्थल पर या घर या सड़कों पर किसी समस्या का सामना करना पड़ता है तो हम सोशल मीडिया का सहारा ले सकते हैं।“

कार्यक्रम का संचालन डॉ शिप्रा द्वारा किया गया। रोवर्स रेंजर्स क्लब की समन्वयक डॉ विनीता देवी द्वारा विषय पर प्रकाश डालते हुए कहा की ज्यादातर महिलाओं को उन कानूनों के बारे में नहीं पता है जो उनके अधिकारों की रक्षा कर सकते हैं। साथ ही, वे इस बात से अनजान हैं कि किससे संपर्क करना चाहिए, या सहायता के लिए किस एजेंसी के पास जाना चाहिए।महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होने की आवश्यकता है।

इस मौके पर प्रो0डॉ0 एस पी मधवाल ,डॉ पंकज बहुगुणा, डॉक्टर आरके द्विवेदी, डॉ पंकज कुमार, डॉ कमल कुमार, डॉ0वी के सैनी, डॉ0 वरूण कुमार ,डॉ पंकज टम्टा , डॉ संजय मदान ,डॉक्टर शेफाली रावत ,डॉ शहजाद , डॉ वंदना ध्यानी,अर्चना नौटियाल, डॉ नीना शर्मा, डॉ रेखा यादव, , डॉ नेहा शर्मा , डॉ विनिता, डॉ श्रद्धा, , डॉ टम्टा आदि मौजूद रहे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.