अर्थशास्त्र विभागः सीमित संसाधनों में अच्छी शुरूआत

अर्थशास्त्र विभागः सीमित संसाधनों में अच्छी शुरूआत
Spread the love

श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय का ऋषिकेश परिसर आकार ले रहा है। विश्वविद्यालय की बेहतरी के लिए टीम यूनिवर्सिटी पूरी तरह से तैयार है। विभिन्न विभागों में नियुक्त प्राध्यापकों में कुछ खास करने का जज्बा साफ दिखता है।
हिन्दी न्यूज पोर्टल www.tirthchetna.com विश्वविद्यालय की बेहतरी को टीम यूनिवर्सिटी के प्रयासों में साथ है। पोर्टल विभिन्न विभागों की तैयारी, चुनौती और लक्ष्य को लेकर प्राध्यापकों से बातचीत का अभियान चला रहा है।

ऋषिकेश। अर्थशास्त्र कला संकाय के उन विषयों में शामिल है जहां छात्र संख्या अधिक होती है। ऐसे में गुणात्मक शिक्षा हमेशा चुनौती होती है। इस बात का ध्यान रखते हुए टीम अर्थशास़्त्र खास रणनीति पर काम कर रही है।
सेमवार को हिन्दी न्यूज पोर्टल www.tirthchetna.com श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र विभाग में था। क्लास लेकर विभाग में पहुंचे विभागाध्यक्ष डा. गिरीश चंद्र बैंजवाल, डा. पुष्पांजलि आर्य और डा. अशोक मैंदोला तैयारियों पर चर्चा करते मिले।

बातचीत का सिलसिला आगे बढ़ा तो टीम यूनिवर्सिटी की टीम इकोनामिक्स  की तैयारियों के बारे में जानकारी दी। बताया कि विभाग की तैयारी है कि छात्र किताबी ज्ञान, पाठयक्रम और परीक्षा के नंबर गेम तक सीमित न रहे। अर्थ प्रबंधन को जाने, इसको लेकर जानकार बनें। 

इसके लिए वित्तीय सारक्षरता से संबंधित सर्टिफिकेट/डिप्लोमा कोर्स डिजाइन किए जा रहे हैं। विभाग जल्द ही इन्हें धरातल पर उतारने का प्रयास भी करेगा। ताकि नई शिक्षा नीति के साथ कदमताल और विश्वविद्यालय की बेहतरी में योगदान दिया जा सकें।

विभाग के तीनों प्राध्यापकों के इस जोश को फिलहाल संसाधनों की कमी भी फेस करनी होगी। टाइम मैनेजमेंट कड़ी परीक्षा लेगा। इस बात का भान विभागध्यक्ष डा. गिरीश चंद्र बैंजवाल, डा. पुष्पांजलि आर्य और डा. अशोक मैंदोला को अच्छे से है। विश्वविद्यालय की टीम इकोनोमिक्स से एक स्वर निकलता हम करेंगे और कामयाब होंगे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.