कोटद्वार में संस्कृत भारती का जनपदीय सम्मेलन

कोटद्वार में संस्कृत भारती का जनपदीय सम्मेलन

- in पौड़ी
0

कोटद्वार। जागरूक लोगों को संस्कृत भाषा के संरक्षण और संवर्द्धन को आगे आना चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि संस्कृत को बोल चाल में प्रयोग किया जाए।

ये कहना संस्कृत के जानकारों का। मौका था संस्कृत भारती कोटद्वार के तत्वावधान में संस्कृत जनपद सम्मेलन का। सरस्वती विद्या मंदिर जानकीनगर कोटद्वार में सरस्वती वंदना व स्वागतं गीत के साथ किया गया।

कार्यक्रम में अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से संस्कृत के प्रचार व प्रसार पर बल दिया गया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एससीईआरटी के उपनिदेशक प्रदीप रावत ने संस्कृत भाषा की वैज्ञानिकता पर प्रकाश डाला,विशेष बात यह रही कि उन्होंने अपना सारा भाषण संस्कृत भाषा मे ही दिया।

मेहरबान सिंह कंडारी विद्या मंदिर की छात्राओं ने शानदार नृत्य प्रस्तुत किया।विशिष्ट अतिथि डॉ नागेंद्र ध्यानी ने संस्कृत के माध्यम से रोजगार की दिशा में बढ़ने की संभावना पर जोर दिया। नैंसी रावत नामक छात्रा ने ऐ मेरे वतन के लोगों गीत को संस्कृत अनुवाद में गाया।

विशेष अतिथि सत्यपकाश थपलियाल ने संस्कृत के लिए संस्कृत भारती द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना की।जनपद संयोजक पंकज ध्यानी ने संस्कृत भारती द्वारा संस्कृत के लिए किए जा रहे कार्यों की आख्या प्रस्तुत की।

रोशन गौड़ ने आये हुए अतिथियों को संस्कृत का अधिकाधिक प्रयोग करने की अपील की।कार्यक्रम में नन्हे मुन्ने बच्चों अथर्व,कौमुदी,प्रांजल,प्रणव के द्वारा मधुर स्वर में श्लोक गायन किया गया।जिस हेतु मयंक प्रकाश कोठारी जी द्वारा इन बच्चों को पुरष्कृत भी किया गया।मयंक कोठारी ने संस्कृत के भविष्य को उज्ज्वल बताया।

सहित्यांचल के अध्यष जनार्दन बुड़ाकोटी ने शासन द्वारा संस्कृत भाषा की उपेक्षा पर चिंता जताई।सार्थक व यथार्थ दो बच्चों द्वारा बेहतरीन योग प्रदर्शन किया गया।कार्यक्रम अध्यक्ष व विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य लोकेंद्र अंथवाल जी ने भविष्य में संस्कृत भारती को हरसंभव सहायता का भरोसा दिया।

कार्यक्रम का संचालन कुलदीप मैंदोला व रोशन बलूनी ने किया।कार्यक्रम में जिला प्रचारक पारस, डॉ पद्मेश बुड़ाकोटी,विजय लखेड़ा,सोमप्रकाश कंडवाल,डॉ श्रीविलास बुड़ाकोटी,संजय रावत,मंजू कपरवाण, किशोर विडालिया,कविता ध्यानी,राकेश कंडवाल,एस एस नेगी,गणेश पसबोला,सतीश देवरानी,हरीश नॉडियाल, प्रकाश कैंथोला,अब्बल रावत आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बीईओ ने लगाई शिक्षकों की कोविड डयूटी, सीईओ ने कहा अभी जरूरत नहीं

नरेंद्रनगर। खंड शिक्षाधिकारी ने बड़ी संख्या में शिक्षकों