ब्लैक मेल करने वालों के खिलाफ लामबंद हुई तीर्थनगरी

ब्लैक मेल करने वालों के खिलाफ लामबंद हुई तीर्थनगरी

- in ऋषिकेश
0

ऋषिकेश। ब्लैक मेलरों ने तीर्थनगरी ऋषिकेश के छोटे-बड़े कारोबारियों की नींद हाराम कर दी है। परेशान कारोबारियों ने पुलिस से ब्लैक मेलिंग के खेल पर अंकुश लगाने की मांग की है।

धर्म/कर्म, वेद/ऋचाओं के बजाए इन दिनों तीर्थनगरी ऋषिकेश में चारों ओर ब्लैक मेलिंग की बातें सुनाई दे रहे हैं। कुछ आरटीआई की आड़ में इस खेल को कर रहे हैं तो कुछ दूसरे तरीके से माल बना रहे हैं।

हैरानगी की बात ये है कि ब्लैक मेलरों के लिए सेफ पैसेज बनाने वाले भी अब इनकी हरकतों से परेशान हो गए हैं। ब्लैक मेलर अब बड़े-बड़ों तक भी पहुंचने लगे हैं। यही नहीं कहां से कुछ मिल सकता है इसकी रेकी और एप्रोच बनाने का काम में खास लोगों के नाम चर्चा में हैं।

मकान निर्माण हेतु नींव पड़ते ही ब्लैक मेलर मंडराने लगते हैं। आत्मविश्वास ऐसा कि सिर छिपाने के लिए मकान बना रहे व्यक्ति को कानून पड़ा देते हैं। एक पूर्व महिला पार्षद के साथ ही ऐसा हो चुका है।

यही वजह है कि पिछले तीन चार सालों से ऋषिकेश में इस प्रकार की बात खूब सुनाई दे रही हैं। कुछ लोगों की माली हालत में हुई सुधार को भी इससे जोड़कर देखा और दावे भी किए जा रहे हैं। कुछ खबरनवीसों के नाम भी आए दिन चर्चा में रहते हैं।

बहरहाल, ब्लैक मेलिंग के खेल से परेशान कारोबारियों के साथ ही विभिन्न राजनीतिक दलों ने भी इसको लेकर कोतवाली में दस्तक दी है। भाजपा नेता संदीप गुप्ता का कहना है कि पानी सिर के उपर तक आ गया है।

लो परेशान हैं। खोम्चे वाले से लेकर बड़े कारोबारी तक हर कोई परेशान है। कहा कि पुलिस से गुहार लगाई जा चुकी है। उम्मीद है कि पुलिस इस पर अंकुश लगाएगी। ताकि लोगों को इससे राहत मिल सकें। देखने वाली बात होगी कि तीर्थनगरी ऋषिकेश में बेहद कंपलीकेट हो चुके ब्लैक मेलिंग के नक्सेस को पुलिस कैसे साधती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मेयर की पहल से निराश्रित गोवंश को मिलेगा ठौर

ऋषिकेश। मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं की पहल पर