कृषि उत्पाद के विक्रय की मजबूत प्रणाली विकसित करने की जरूरत: डीएम

Spread the love

 किसानों के उत्पादन को बेहतर मूल्य दिलाएं

बागेश्वर। कृषि गतिविधियां बढ़ानी हैं और किसानों के उत्पादन को बेहतर मूल्य भी दिलाना है। जिसके लिए कृषि, उद्यान विभाग बेहतर काम करेंगे। ब्लॉकवार कलस्टर के रूप में कार्ययोजना का निर्माण करेंगे और किसानों की आय दोगुनी होगी। सोमवार को विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी विनीत कुमार ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के प्रयास होने हैं। जिसके लिए कृषि उत्पाद के विक्रय की मजबूत प्रणाली विकसित करने की जरूरत है। जिले के मालता गांव में सब्जी, अदरख, हल्दी, लहसून समेत अन्य फलों के लिए कलस्टर का गठन किया गया। गरुड़ के अमस्यारी, कपकोट के शामा में कीवी और आलू का कलस्टर प्रस्तावित है। कलस्टर एप्रोच के अनुसार सर्वे आदि एक माह के भीतर करनी है।

इंडियन सोशल रिस्पोसबिलिट सिस्टम विभिन्न गतिविधियों को संचालित करेगी। किसानों को नियमानुसार उच्च तकनीकी का लाभ के साथ ही गैर परंपरागत फसलों का भी उत्पादन कराना है। किसान को आत्म निर्भर बनाना है ओर 2022 तक उनकी आय दोगुनी की जा सके। 33 हजार किसान केसीसी धारक है। 21 हजार किसानों ने ऋण लिया है। जिन किसानों को फसली ऋण नहीं मिला है, उन्हें भी दिया जाए। बैठक में सीडीओ डीडी पंत, पीडी शिल्पी पंत, जीपी दुर्गापाल, बीपी मौर्य, डा. उदय शंकर, आरके सिंह, गिरीश पंत आदि मौजूद रहे।

Amit Amoli

Leave a Reply

Your email address will not be published.