यमकेश्वर की क्षेत्र पंचायत बैठक में लोनिवि की कार्यप्रणाली पर सवाल,शिक्षक और चिकित्सकों की भी शिकायत

यमकेश्वर की क्षेत्र पंचायत बैठक में लोनिवि की कार्यप्रणाली पर सवाल,शिक्षक और चिकित्सकों की भी शिकायत
Spread the love

जिलाधिकारी ने अधिकारियों को दिए समस्याओं के निदान के निर्देश

तीर्थ चेतना न्यूज

यमकेश्वर। क्षेत्र पंचायत, यमकेश्वर की बैठक में जनप्रतिनिधियों ने लोक निर्माण विभाग की कार्यप्रणाली और जल जीवन मिशन के कार्यों को लेकर असंतोष व्यक्त किया।

ब्लॉक प्रमुख आशा भट्ट की अध्यक्षता में आज यमकेश्वर विकासखण्ड सभागार में आयोजित बीडीसी की बैठक में विधायक रेनू बिष्ट, जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने भी शिरकत की। बैठक में जनप्रतिनिधियों ने क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर शिकायत की।

साथ ही जल जीवन मिशन के तहत हो रहे कार्यों को लेकर कई तरह से सवाल उठाए। इसके अलावा क्षेत्र में तैनात चिकित्सकों और सुदूर क्षेत्र में तैनात शिक्षकों ले कर भी कुछ शिकायतें हुई।

जिलाधिकारी ने कहा कि बैठक में जो निर्देश दिए गए हैं उनका अनुपालन करना सुनिश्चित करें। कहा कि जिन-जिन विभागों में जो योजनाएं संचालित हैं उनकी जानकारी लोगों तक पहुंचाए तथा उन्हें योजनाओं से लाभाविन्त करें।

इस दौरान उन्होंने समस्त जनप्रतिनिधियों को कहा कि क्षेत्र की जो भी समस्याएं हैं उसका प्रस्ताव बैठकों से 15 दिन पूर्व ब्लॉक को उपलब्ध कराए। जिससे उन समस्याओं पर बैठक में चर्चा कर निस्तारण किया जा सकेगा। बैठक में अधिकतर शिकायतें विद्युत, शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, खाद्य पूर्ति सहित अन्य समस्याएं रही। जिसका संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि तत्काल समस्याओं का समाधान करें।

स्थानीय विधायक रेनू बिष्ट ने कहा कि जिन-जिन समस्याओं पर चर्चा की गई है उनका समय से पूर्व निस्तारण करें। जिससे क्षेत्र के लोगों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। कहा कि समस्त अधिकारी अपने-अपने कार्यों का निरीक्षण भी करते रहें, जिससे कार्यों में तेजी लायी जा सके। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिस क्षेत्र में जो समस्या है उसका संज्ञान लेते हुए तत्काल समाधान करें। कहा कि अधिकारी व जनप्रतिनिधि समन्वय बनाकर कार्य करें। साथ ही कहा कि समस्त अधिकारी समय-समय पर आयोजित होने वाली ऐसी बैठकों में प्रतिभाग करें।

जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया कि मार्गों का कार्य गंभीरता पूर्वक करें तथा जहां-जहां मार्ग क्षतिग्रस्त हैं वहाँ जल्द पुस्ता लगवाना सुनिश्चित करें। जिससे आमजनमानस को परेशानियों का सामना न करना पड़े।

उन्होंने लोक निर्माण अधिकारी दुगड्डा व लैंसडाउन को निर्देशित किया कि मार्गों की गुणवत्ता को लेकर नियमित रूप से निरीक्षण करें। साथ ही उन्होंने जल संस्थान व जल निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि पंचूर व फलदाकोट पम्पिंग योजना की जांच कर कार्यवाही पूर्ण करें। साथ ही उन्होंने कहा पाइप लाइनों को अंडरग्राउंड करना सुनिश्चित करें, जिससे बार-बार पाइप लाइन टूटने से बच सकेगी।

इस दौरान उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी व शिक्षाधिकारी को निर्देशित किया कि क्षेत्रीय कार्यालयों में भी जल्द उपस्थिति हेतु बायोमेट्रिक की कार्यवाही प्रारम्भ करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन-जिन विभागों के क्षेत्र में जो कार्य चल रहे हैं उनका समय समय पर निरीक्षण करना सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर जेष्ठ उप प्रमुख दिनेश भट्ट, कनिष्ट उप प्रमुख विजयपाल सिंह, उपजिलाधिकारी प्रमोद कुमार, पीडी संजीव कुमार रॉय, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. प्रवीण कुमार, तहसीलदार मनजीत सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी के. एस. कोहली, समाज कल्याण अधिकारी धनंजय लिंगवाल, खण्ड विकास अधिकारी दृष्टि आनन्द, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण लैंसडाउन आलोक जैन, खण्ड शिक्षाधिकारी रमेश तोमर, उरेडा अधिकारी शिव सिंह मेहरा सहित अन्य अधिकारी व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

 

यह भी पढ़ेंः चारधाम यात्राः देहरादून के डीएम और कप्तान ऋषिकेश में

यह भी पढ़ेंः धामी सरकार में दायित्व पाने को शुरू हो गए प्रयास

Tirth Chetna

2 thoughts on “यमकेश्वर की क्षेत्र पंचायत बैठक में लोनिवि की कार्यप्रणाली पर सवाल,शिक्षक और चिकित्सकों की भी शिकायत

  1. तीर्थचेतना में अपना प्रेस नोट कैसे भेज सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.