केएफडब्ल्यू की मदद से संवरेगी तीर्थनगरी ऋषिकेश, 1600 करोड़ का प्रोजेक्ट

केएफडब्ल्यू की मदद से संवरेगी तीर्थनगरी ऋषिकेश, 1600 करोड़ का प्रोजेक्ट
Spread the love

राज्य सरकार और नगर निगम के प्रयासों को दिख रहा असर

तीर्थ चेतना न्यूज

देहरादून। सब कुछ ठीक ठाक रहा तो यूरोपीय वित्तपोषण संस्था केएफडब्ल्यू तीर्थनगरी ऋषिकेश को संवारने और सुविधा संपन्न बनाने के लिए करीब 1600 करोड़ रूपये खर्च करेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर ऋषिकेश नगर के एकीकृत अवस्थापना विकास परियोजना हेतु वित्तीय मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा यूरोपीय वित्तपोषण संस्था केएफडब्ल्यू को 160 मीलियन यूरो की सहायता हेतु प्रस्ताव प्रेषित किया गया है। परियोजना की कुल लागत लगभग 200 मीलियन यूरो (लगभग रू0 1600 करोड़) है। परियोजना हेतु भारत सरकार व राज्य सरकार का वित्तीय अनुपात 80ः20 प्रस्तावित है।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार और नगर निगम ऋषिकेश के स्तर से लगातार प्रयासों के चलते तीर्थनगरी ऋषिकेश को इंटरनेशनल स्तर पर प्रोजेक्शन मिला है। बहरहाल, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ऋषिकेश में एकीकृत शहरी अवस्थापना विकास परियोजना को योरापीय वित्तपोषण संस्था को प्रस्ताव भेजे जाने के लिए प्राधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार प्रकट किया।

परियोजना के अंतर्गत पेयजल आपूर्ति प्रणाली, पेयजल मीटर वर्षाजल प्रबन्धन व बाद सुरक्षा, सार्वजनिक स्वच्छता सुविधाएं, स्मार्ट शहरी स्थल परिधान व सामान कक्ष, प्रतीक्षालय घाट और व्यापारिक स्थल का विकास, सड़कें और यातायात प्रबंधन भूमिगत उपयोगिता नालिका नागरिक सुरक्षा और सुविधाओं हेतु विकसित एकीकृत नियंत्रण व आदेश केन्द्र स्मार्ट स्तम्भ व ऊर्जा बचत हेतु उपकरणों की स्थापना, परिवहन केंद्र, बस टर्मिनल और पार्किंग इत्यादि के कार्य किए जायेंगे।

प्रत्येक वर्ष ऋषिकेश में लाखों पर्यटकों का आवागमन धार्मिक एवं साहसिक पर्यटन गतिविधियों के लिए किया जाता है। ऐसे में अतिरिक्त सुविधाओं को विकसित किए जाने के दृष्टिगत विकास कार्य किए जाने की आवश्यकता है। यातायात संकुलन से होने वाली परेशानी को कम करने के उद्देश्य से ऊंचे पथों का निर्माण किया जायेगा।

परियोजना के पूर्ण होने पर नागरिक जीवनशैली व जीवन योग्यता मानकों में वृद्धि होगी, स्थानीयों के व्यापारिक व आजीविका स्तर में सुधार होगा, नागरिकों व पर्यटकों को बेहतर पेयजल एवं स्वच्छता सुविधाएं प्राप्त हो सकेंगी, जीविकोपार्जन गतिविधियों में वृद्धि होगी, यातायात में सरलता होगी तथा पर्यटकों को उच्चस्तरीय सुविधाएं प्राप्त हो सकेगी।

मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं ने इसके लिए राज्य सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार प्रकट किया। बताया कि नगर निगम के स्तर से लगातार इस बात के प्रयास हो रहे हैं कि योग की अंतर्राष्ट्रीय राजधानी में जन सुविधाएं और बेहतर हों।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.