गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज पावकी देवी में बिच्छु घास की उपयोगिता पर कार्यशाला

गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज पावकी देवी में बिच्छु घास की उपयोगिता पर कार्यशाला
Spread the love

ऋषिकेश। मुख्यमंत्री नवाचार योजना के तहत गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, पावकी देवी में बिच्छु घास की उपयोगिता विषय पर आयोजित कार्यशाला में इसे रोजगार से जोड़ने पर जोर दिया गया।

कार्यशाला का आरंभ मुख्यमंत्री नवाचार योजना समितिकी संयोजक डॉ. तनु आर. बाली ने किया। उन्होंने इस योजना के उद्द्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह युवाओं के स्वरोजगार की दिशा में एक अत्यंत महत्वपूर्ण पहल है।

बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा कु0 संजना द्वारा बिच्छू घास कोप्रदर्शित करते हुए उसकी उपयोगिता के विषय मे जानकारी दी गयी। बिच्छू घास के औषधीय गुणों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इसमें विभिन्न पोषक तत्त्व जैसे मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम इत्यादि प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।

उच्च रक्तचाप, मासिक धर्म के दर्द तथा कमर दर्द में इसकी विशेष औषधीय उपयोगिता के बारे में जानकारी दी। कहा के इसमे एन्टी ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं तथा यह घावों को भरने की क्षमता भी रखती है। इसका तेल बालों तथा त्वचा की नमी को बनाये रखने में उपयोगी है।

बिच्छू घास के रेशे बैग, शाल, जैकेट इत्यादि बनाने में भी प्रयोग किये जा सकते हैं। इस प्रकार यह स्थानीय पलायन को रोकने में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकती है। इस क्रम में कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. छाया चतुर्वेदी ने कहा कि नवाचार का उद्द्देश्य बुजुर्गो से प्राप्त ज्ञान का रोजगारपरक प्रयोग है।

इस मौके पर श्रीमती गुंजन जैन, सदस्य नवाचार समिति ने धन्यवाद ज्ञापित किया। उस अवसर पर डॉ. संगीता बहुगुणा, ओमवीर, डॉ. रेखा सिंह, केंद्र सिंह,श्री विकास, निखिल तथा समस्त छात्र छात्राये उपस्थित रहे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.