शिक्षा शास्त्र विभागः टीएलएम को बेहतर बनाने पर है फोकस

शिक्षा शास्त्र विभागः टीएलएम को बेहतर बनाने पर है फोकस
Spread the love

श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय का ऋषिकेश परिसर आकार ले रहा है। विश्वविद्यालय की बेहतरी के लिए टीम यूनिवर्सिटी पूरी तरह से तैयार है। विभिन्न विभागों में नियुक्त प्राध्यापकों में कुछ खास करने का जज्बा साफ दिखता है।
हिन्दी न्यूज पोर्टल www.tirthchetna.com विश्वविद्यालय की बेहतरी को टीम यूनिवर्सिटी के प्रयासों में साथ है। पोर्टल विभिन्न विभागों की तैयारी, चुनौती और लक्ष्य को लेकर प्राध्यापकों से बातचीत का अभियान चला रहा है।

ऋषिकेश। शिक्षण कैसे बेहतर हो, अधिगमकर्ता कठिन विषय वस्तु को अच्छे से समझ सके श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय के शिक्षा शास्त्र विभाग का फोकस इसी पर है।

हिन्दी न्यूज पोर्टल www.tirthchetna.com ने अभी तक एकल शिक्षक और स्नानक स्तर के शिक्षा शास्त्र विभाग की टोह ली। विभागाध्यक्ष डा. अटल बिहारी त्रिपाठी ने बातचीत में शिक्षा शास्त्र के बारे में अच्छी जानकारी दी। विषय के महत्व पर विस्तार से प्रकाश डाला।

बताया कि अभी विभाग स्नातक स्तर तक ही है। प्राथमिकता इसे पीजी करने की है। इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर विश्वविद्यालय को भेजा जा रहा है। पीजी होते ही विश्वविद्यालय में शिक्षा शास्त्र विभाग पूरी तरह से आकार ले लेगा।

इसके साथ विभागाध्यक्ष डा. त्रिपाठी ने बताया कि अर्ली चाइल्ड हूड केयर और स्पेशल एजुकेशन में र्सिर्टफिकेट और डिप्लोमा कोर्स डिजाइन कर दिए गए हैं। विश्वविद्यालय की हरी झंडी मिलते ही इन्हें शुरू करा दिया जाएगा।

विभाग में संसाधनों का आभाव यहां भी साफ झलक रहा था। एकल प्राध्यापक होने के बावजूद विभागाध्यक्ष डा. त्रिपाठी का उत्साह कतई कम नहीं है। वो हम होंगे कामायाब की पंच लाइन के साथ शिक्षा शास्त्र विभाग के माध्यम से विश्वविद्यालय की मजबूत नींव रखने के काम में जुटे हुए हैं।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.