विश्व पशु चिकित्सा दिवस पर पर कार्यशाला

विश्व पशु चिकित्सा दिवस पर पर कार्यशाला
Spread the love

देहरादून। विश्व पशु चिकित्सा दिवस पर स्ट्रेंनथेनिंग वेटरनरी रेसिलिएंस विषय पर कार्यशाला आयोजित की गई। इस मौके पर राज्य के पशु पालन मंत्री सौरभ बहुगुणा ने पशु चिकित्सकों और पशु पालकों की समस्याओं के निदान का भरोसा दिया।

शनिवार को राज्य पशु चिकित्सा सेवा संघ और राज्य पशु चिकित्सा परिषद की संयुक्त बैनर तले विश्व पशु दिवस पर स्ट्रेंनथेनिंग वेटरनरी रेसिलिएंस विषय पर कार्यशाला आयोजित की गई। राज्य के वन मंत्री सुबोध उनियाल ने कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। जबकि पशु पालन मंत्री सौरभ बहुगुणा कार्यक्रम में वर्चुअल जुड़े।

इस मौके पर बहुगुणा में पश चिकित्सकों और पशु पालकां को विश्व पशु चिकित्सा दिवस की शुभकामनाएं दी। उन्होंने भरोस दिलाया कि चिकित्सकों और पशु पालकों की समस्याओं का निदान किया जाएगा। मुख्य कार्यक्रम का शुभारंभ वन मंत्री सुबोध उनियाल ने किया।

इस मौके पर उनियाल ने पशु चिकित्सकों को विश्व पशु चिकित्सा दिवस की शुभकामनाएं दी। साथ ही उन्होंने पशु पालन सेक्टर में रोजगार और आर्थिकी की संभावनाओं को तराशने में पशु चिकित्सकों के कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि इस सेक्टर की संभावनाओं को और तराशा जाना चाहिए।

विशिष्ट अतिथि सचिव सीएम डा. आर. मिनाक्षी सुंदरम ने पशु पालन को रोजगार की संभावनाओं वाला क्षेत्र बताया। विभागीय सचिव डा.बीवीआरसी पुरूषोत्तम ने चिकित्सा विदों को पशु चिकित्सा दिवस की शुभकामनाएं दी। साथ ही मौजूदा समय में पशु चिकित्सा क्षेत्र की चुनौतियों को भी रेंखाकित किया। उन्होंने विभाग के स्तर से किए गए विशिष्ट कार्यों को भी गिनाया।

विभाग के निदेशक ने मुख्य अतिथि समेत पशु चिकित्सा विदों का स्वागत करते हुए विभागीय कार्यों की जानकारी दी। पशु चिकित्सा सेवा संघ के अध्यक्ष डा. कैलाश उनियाल ने पशु चिकित्सकों का मांग पत्र प्रस्तुत किया।

देहरादून के जिलाधिकारी डा. आर. राजेश कुमार ने पशुधन की सेवा के लिए चिकित्सकों की सराहना की। एनआरसी हिसार के निदेशक डा. पीके मलिक ने भी विचार रखे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.