उत्तराखण्ड मा स्कूल खुलण से पैल साफ सफै, शौचालय अर सैनिटाईजेशन की तैयरी मा लगी विभाग, यूं स्कूलूं मा द्वी पाली मा चलली कक्षा

उत्तराखण्ड मा स्कूल खुलण से पैल साफ सफै, शौचालय अर सैनिटाईजेशन की तैयरी मा लगी विभाग, यूं स्कूलूं मा द्वी पाली मा चलली कक्षा
Spread the love

  देहरादून। उत्तराखण्ड शिक्षा सचिव राधिका झा न पदभार संभळण बाद पैल बैठक मा विभागीय कामों की समीक्षा करी। उन निर्देश देन कि स्कूल खुलण से पैली साफ सफै, पाणी, शौचालय, अर सेनिटाईजेशन की व्यवस्था कन जिम्मेदरी मुख्य शिक्षा अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी अर खण्ड शिक्षा अधिकारी व्हेली। मैदानी जिलौ मा ज्यादा संख्या व्हाळ स्कूलू मां द्वी पाली मा कक्षा संचालित व्हेली। उन बच्चौं पढै तै सर्वोच्च प्राथमिकता देकन रोड़ मैप तैयार करे जाव।
बुद्ववार कुणी सचिव शिक्षा न प्राथमिक अर माध्यमिक शिक्षा विभाग अधिकारियूं की बैठक मा शिक्षा कार्यौं की समीक्षा करी। उन अधिकारियूं तै निर्देश देन कि स्कूल खुलण पर कोरोना संक्रमण रोकथाम खातिर हर संभव प्रयार करे जाव। गुरूजनौं भोजन माताओं अर होर कर्मचारियूं क वैक्सीनेशन करये जाव।

   सचिव न ब्वाल कि ऑफलाईन शिक्षण दगड़ी ऑनलाईन शिक्षण सुविधा छात्रौं तै दिये जाव। अनुपस्थित छात्र-छात्राओं की ऑनलाईन शिक्षा हासिल कर सको। प्रत्येक स्कूल मा बच्चों क लर्निग आउटकम तै कक्षावार अर विषयवार प्रदर्शित करे जाव। येकी जानकारी अभिभावको तै भी दीये जाव। सब्बि स्कूलौं मा विद्यालय प्रबंधन समिति अर अध्यापक अभिभावक एसोएशन बैठक प्रत्येक मैना मा अतिंम शनिवार तै आयोजित करे जाव।

     सचिव न निर्देश दे कि द्वी मैना भीतर सब्बी स्कूलौं की रंगे पुतै काम पूर कर ल्याव। विद्यालयौं मा एक जणी स्वरूप् मिलौ ये बाबत महानिदेशक तै विद्यालयौं क कलर कोड पर निर्णय दायित्व दिये ग्यायी। ये दगड़ी ही अध्यापकौ तै अध्यापकौं व्हाटसएप ग्रुप अनिवार्य रूप से बणये जाव। ये मा उं बच्चौं तै जुडे जाव जौ मा स्मार्ट मोबाईल फोन व्हाव।

जल्दबाजी मा कखी कोरोना की चपेट मा नी आव बच्चा

     कोरोना कम हूंद मामलौं बीच उत्तराखण्ड सरकार न दर्जा 06 से 12वीं तक बच्चौं बाबत स्कूल खुलण फैसला ल्यायी। सरकार क ये फैसले से अभिभावक चिंतिंत छन। अभिभावकूं बुलण छ कि अजों कोनो की तीसरी लहर आण की संभावना बताणा छन, इन मा स्कूल खुलण जल्दबाजी मा कखी बच्चा कोरोना की चपेट मा नि ऐ जाव।

    अभिभावकौं कु बूलण छ कि सरकार न पैल बच्चों बाबत वैक्सीन की व्यवस्था करो वैक बाद बच्चौं तै स्कूल बुलये जाव। अगर कोरोना की तीसरी लहर मा बच्चा प्रभावित हूंद त सरकार अर जनता द्वीयूं कुणी भारी समस्या व्हेली। इन मा अजों ऑनलाईन शिक्षा व्यवस्था तै मजबूत कन पर सरकार ते ध्यान दीण चियांद, जैसे बच्चौ तै सुरक्षित माहौल देकन शिक्षा से जुडे सक्याव।

Amit Amoli

Leave a Reply

Your email address will not be published.