उन्नत भारत अभियानः सरकी गांव में मत्स्य पालन पर कार्यशाला

उन्नत भारत अभियानः  सरकी गांव में मत्स्य पालन पर कार्यशाला
Spread the love

देहरादून। उन्नत भारत अभियान के तहत गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, मालदेवता, रायपुर के बैनर तले सरकी गांव आयोजित कार्यशाला में कृषकों को मत्स्य पालन के बारे में जानकारी दी गई।

बुधवार को उन्नत भारत अभियान के तहत आयोजित कार्यशाला में राज्य के मत्स्य निदेशक डा. एचसी पुरोहित बतौर मुख्य अतिथि मौजूद थे। उन्होंने ने ग्राम सेरकी में ग्रामीणों को बताया कि कि कैसे वे पारम्परिक कृषि से हटकर, सेरकी क्षेत्र में प्राकृतिक श्रोतों पर आधारित रोजगार कर अपनी आमदनी बढा सकते हैं।

बताया कि उनके विभाग द्वारा कृषकों के लिए तमाम सारी योजनाएं हैं, उन्होंने कहा बहुत आसानी से फंगासियस मछली का उत्पादन करके कृषक अपनी आमदनी बढा सकते हैं। उन्होंने सरकार द्वारा दी जा रही किसान क्रेडिट कार्ड की जानकारी भी कृषकों को दी।

उन्होंने सेरकी गांव के लोगों को बताया कि उनके गांव के साथ साथ जो सौंग नदी बह रही है इससे उनको मछली उत्पादन करना ओर भी आसान होगा। उन्होंने कृषकों को तमाम सारे उदाहरण बताऐ जो लोग आमदनी के नाम पर कुछ भी नहीं कमाते थे मछली उत्पादन को रोजगार के रुप में अपनाकर लाखों करोडों की आमदनी शुरु की है।

डा. पुरोहित ने ग्रामीणों को यह भी बताया कि अगले वर्ष उत्तराखंड मत्स्य विभाग के द्वारा सेरकी गांव में क्लस्टर डेवलप किया जाऐगा तथा एक सरकुलेटरी युनिट भी लगाई जाऐगी जिससे ग्रामीण उत्साह के साथ मछली उत्पादन कर सकेंगे।

डा. एच सी पुरोहित ने कालेज के प्रिंसिपल प्रो सतपाल सिंह साहनी जी व कार्यक्रम की समन्वय डा. मधु थपलियाल का आभार व्यक्त किया. महाविद्यालय के प्राचार्य प्रोफेसर सतपाल सिंह साहनी ने बताया कि किस प्रकार ग्रामीण मछली उत्पादन जैसे रोजगार को अपनाकर अपनी आमदनी दोगुनीकरके अपनी आर्थिकी को मजबूत कर सकते हैं।

उन्होंने जोर देते हुए कहा कि आज जिस प्रकार से सरकारी नौकरियों में कमी आ रही है उसके चलते हमें आमदनी के अन्य साधन भी देखने हों। कार्यक्रम की समन्वयक डा. मधु थपलियाल ने बताया कि उन्नत भारत अभियान भारत सरकार द्वारा संचालित एक ऐसा कार्यक्रम है जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों के मध्य स्थित कालेज गांव के साथ सामंजस्य बनाकर उनको ऐसी तकनीकी शिक्षा का ज्ञान देना जिसमें प्रत्येक ग्रामवासी अपना स्वयं का रोजगार कर सके तथा यह महाविद्यालय, ग्रामवासियों तथा विभिन्न विभागों के बीचमें समन्वय का कार्य करता है जिससे गांवों तक तकनीक पहुंच सके।

सेरकी गाव के प्रधान दिनेश ने रायकीय महाविद्यालय मालदेवता रायपुर के प्राचार्य प्रो. सहनी जी कार्यक्रम की समन्वयक डा मधु थपलियाल व उन्नत भारत अभियान कार्यक्रम की सदस्य डा. रेखा चमोली, डा. श्रतु चौकियाल का ग्रामीणों को इतनी लाभदायक जानकारी हेतु बहुत-बहुत धन्यवाद दिया और निदेशक डा. पुरोहित से आग्रह किया कि वो गांव में कार्य को गति देकर ग्रामीणों को रोजगार देने के अवसर प्रदान करें। कार्यक्रम का संचालन डा. रेखा चमोली ने तथा धन्यवाद डा. श्रतु द्वारा किया गया. कार्यक्रम में सेरकी गांव, बौ़ठा गांव तथा आसपास के अन्य गांव के सैकडौं लोगों ने सिरकत की. कार्यक्रम में कु. सरस्वती, अनुराधा, शिवांसी, वर्षा, निकिता, आरती, प्राची, संगीता, सविता, रवि राणा समेत कई छात्र छात्ताऐं सम्मिलित हुए।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.