बाजार की जरूरतों के मुताबिक कौशल अर्जित करने की जरूरत

बाजार की जरूरतों के मुताबिक कौशल अर्जित करने की जरूरत
Spread the love

श्रीनगर। आज बाजार की जरूरत के मुताबिक कौशल अर्जित करने की जरूरत है। इसके लिए जरूरी है कि युवा मौजूदा दौर की तकनीकी पर नजर बनाए रखें और अपडेट रहें। ताकि युवा स्वयं को साबित कर सकें।

ये कहना है नेटलिंक, भोपाल की एसोसिएट डायरेक्टर, मार्केटिंग और कम्युनिकेशन कीर्ति सुंदरम का। कीर्ति हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के इंस्टिट्यूट इनोवेशन सेल द्वारा आयोजित डिजाइन थिंकिंग, क्रिटिकल थिंकिंग और इनोवेशन डिजाइन पर एक ऑनलाइन कार्यशाला में बतौर मुख्य वक्ता बोल रही थी।

इन्होंने अपना वक्तव्य पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम प्रस्तुत किया व बताया कि कैसे विद्यार्थी अपने आप को मार्केट की आवश्यकता अनुसार कौशल अर्जित कर आगे बढ़ सकते है।

उन्होंने बताया कि किस प्रकार विद्यार्थी, अपने आप को महामारी उपरांत की रोजगार व नौकरियों के लिए तैयार करेंगे। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों द्वारा विश्वविद्यालय में अपनी डिग्री के दौरान अर्जित ज्ञान, मार्केट में भी हमेशा आधार बनकर सहयोग करेगा। उन्होंने महामारी उपरांत के कार्यबल रुझानों पर बात करते हुए उन्हें विद्यार्थियों को समझाया।

उन्होंने बताया कि विद्यार्थी अवसरों के प्रति सजग रहें व सुनिश्चित करें कि आपका रेज़्यूमे/बायोडेटा आपके काम को अपनाने की इच्छा को दर्शाता हो।उन्होंने लिंकेडीन जैसे प्लेटफॉर्म के माध्यम से उपलब्ध अवसरों पर भी बताया।

कार्यक्रम का संचालन इंस्टिट्यूट इनोवेशन सेल के छात्रा सदस्य अक्षिता अग्रवाल द्वारा किया गया। कार्यक्रम के शुभारंभ में इंस्टिट्यूट इनोवेशन सेल के अध्यक्ष प्रोफेसर अतुल धयानी द्वारा स्वागत भाषण दिया गया। धन्यवाद ज्ञापन आई आई सी के सदस्य डॉ. अनुजा रावत द्वारा दिया गया। इस अवसर पर आई आई सी के उपाध्यक्ष डॉ. आलोक सागर गौतम, कार्यक्रम के समन्वयक डॉ. सुधीर कुमार चतुर्वेदी, आई आई सी के शिक्षक सदस्य, छात्र सदस्य निखिल, महावीर प्रसाद, करन सिंह, संजीव सिंह रावत, प्रवीण कुमार, अंशु देवली, प्रद्युम्न गोसाई आदि उपस्थित थे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.