गवर्नमेंट डिग्री/पीजी कॉलेज कैसे करें नैक प्रत्यायन की तैयारी

गवर्नमेंट डिग्री/पीजी कॉलेज कैसे करें नैक प्रत्यायन की तैयारी
Spread the love

उच्च शिक्षा निदेशालय, यूजीसी, और कुमाऊ विश्वविद्यालय की संयुक्त पहल

तीर्थ चेतना न्यूज

देहरादून। गवर्नमेंट डिग्री/पीजी कॉलेज नैक प्रत्यायन की तैयारी कैसे करें? शैक्षणिक गुणवत्ता सुधार के लिए तत्काल क्या-क्या कदम उठाए जाने चाहिए।

उक्त विषय पर गुरूवार को उच्च शिक्षा निदेशालय, उत्तराखण्ड एवं यू0जी0सी0 एच0आर0डी0सी0 कु0वि0, नैनीताल के संयुक्त तत्वाधान में राज्य स्तरिय कार्यशाला आयोजित की गई। इसमें विषय विशेषज्ञों ने शिरकत करते हुए बेहतरी हेतु तमाम टिप्स दिए।

कार्यशाला में मुख्य वक्ता के रूप में कुमाऊँ विश्वविपद्यालय कुलपति प्रो.एनके जोशी ने नैक प्रत्यायन की महत्व तथा राज्य में संचालित समस्त डिग्री/पीजी कॉलेजों में गुणवत्ता सुधारक आवश्यक प्रयत्नों पर व्याख्यान दिया।

उन्होंने कॉलेजों में आधारभूत सुविधाओं के सृजन, आधुनिक तकनीकि पूर्ण शिक्षण सुविधायें एवं शोध कार्यों को प्रोत्साहित करने हेतु सुझाव दिये। इसके उपरान्त प्रो. संजय पन्त ने नैक प्रत्यायन के सभी 07 चरणों तथा आवश्यक अंको के सम्बन्ध में विस्तृत व्याख्यान प्रस्तुत किया।

डॉ0 रूचि त्रिपाठी, सहायक सलाहकार, नैक बैंगलौर द्वारा नैक प्रत्यायन के विभिन्न चरणों में महाविद्यालयों के लिए आवश्यक निर्देश एवं तैयारियों की व्यावहारिकता के साथ-ंउचयसाथ नैक की उच्च ग्रेडिंग प्राप्त करने से लाभ के विषय में विस्तार पूर्वक बताया गया।

प्रो0 पी0सी0 कविदयाल ने कॉलेजों को उदाहरण के साथ नैक सम्बन्धी मुख्य बिन्दुओं पर प्रकाश डाला। उच्च शिक्षा निदेशक प्रो. सन्दीप शर्मा ने बताया कि पूर्व में 13 राजकीय कॉलेजों को कुल 01 करोड़ का अनुदान राशि नैक प्रत्यायन के दृष्टिगत आवश्यक सुविधाओं के आयोजनार्थ जारी किये गये थे तथा इस वर्ष 07 गवर्नमेंट डिग्री कॉलेजों में यही अनुदान राशि प्रस्तावित है।

नैक प्रत्यायन के अनुसार तैयारी करने से इन कॉलेजों में गुणवत्ता सुधार हेतु आवश्यक कदम उठाये जा सकेंगे जिसका लाभ राज्य में अध्ययनरत विद्यार्थियों एवं कार्यरत शिक्षकों को मिल सकेगा, उच्च शिक्षा विभाग इस कार्य हेतु पूर्ण समर्पण के साथ कार्यरत है।

इस कार्यक्रम के आयोजक सचिव डॉ0 गोविन्द पाठक, सहायक निदेशक डॉ0 चमन कुमार, राज्य नोडल अधिकारी-ंउचयडिजिटल इनिशियेटिव, डॉ0 विनय देवलाल, राज्य नोडल अधिकारी-ंउचयडिजिटल इनिशियेटिव तथा संयोजक प्रो0 दिव्या उपाध्याय जोशी, निदेशक यू0जी0सी0 एच0आर0डी0सी0 कु0वि0, नैनीताल तथा डॉ0 रितेश शाह सहायक निदेशक यू0जी0सी0 एच0आर0डी0सी0 कु0वि0, नैनीताल थे।

उक्त कार्यक्रम में लगभग 80 राजकीय महाविद्यालय के प्राचार्य तथा आई0क्यू0ए0सी0 संयोजकों आदि ने प्रतिभाग किया।

Tirth Chetna

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *