Saturday, November 27, 2021
Home उत्तराखंड उत्तराखंड विधानसभा का मानसून सत्र एक दिन बढ़ा, आज होगी खास बहस

उत्तराखंड विधानसभा का मानसून सत्र एक दिन बढ़ा, आज होगी खास बहस

उत्तराखंड में हाइडेल प्रोजेक्ट का मामला एक बार फिर सुर्खियों में है। 5000 से ज़्यादा लोगों की जान लेने वाली 2013 में की बाढ़ के बाद सुप्रीम कोर्ट ने उत्तराखंड में हाइड्रो-इलेक्ट्रिक प्रोजेक्टों की स्वीकृति पर निषेध लगा दिया था। अब इसके बावजूद केंद्र सरकार के पर्यावरण, विद्युत और जलशक्ति मंत्रालयों ने मिलकर एक सह​मति बना ली है और उत्तराखंड में 7 हाइडेल प्रोजेक्टों के निर्माण को हरी झंडी दे दी है, जो गंगा नदी या उसकी सहायक नदियों पर बनने प्रस्तावित हैं। इन प्रोजेक्टों में से एक वह भी है, जो इस साल फरवरी की बाढ़ के कारण काफी हद तक चौपट हो गया था।

पर्यावरण मंत्रालय ने बीते 17 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में एक संयुक्त हलफनामा पेश करते हुए कोर्ट को मंत्रालयों की आपसी सहमति के बारे में बताया। ये इसलिए बड़ी खबर है क्योंकि अगर सुप्रीम कोर्ट से इस कदम को मंज़ूरी मिल जाती है, तो उत्तराखंड में अन्य कई हाइडेल प्रोजेक्टों के लिए रास्ता खुल जाएगा। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार पर्यावरण मंत्रालय ने इस मामले में जो नई विशेषज्ञ कमेटी बनाई, उसके मुताबिक भी ये 7 प्रोजेक्ट उन 26 प्रोजेक्टों का हिस्सा हैं, जिन्हें कुछ सुधारों व सुझावों के साथ लागू करने की सिफारिशें की जा सकी हैं।

किन प्रोजेक्टों को दी केंद्र ने मंज़ूरी
जिन 7 हाइडेल प्रोजेक्टों को लेकर केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया, उनमें तपोवन विष्णुगाद में धौली गंगा पर बना एनटीपीसी का वह प्रोजेक्ट शामिल है, जो चमोली ज़िले में फरवरी में आई बाढ़ में बहुत हद तक नष्ट हो गया था। अन्य प्रोजेक्टों में टिहरी स्टेज-II, विष्णुगाद पीपलकोट, सिंगोली भटवारी, फाटा बुयोंग, मडमहेश्वर और कालीगंगा-II के हाइडेल प्रोजेक्ट शामिल हैं।

आखिर क्या है ​यह विवाद?

अगस्त 2013 में सुप्रीम कोर्ट ने तमाम प्रोजेक्टों पर रोक लगाई थी, तबसे ही पर्यावरण मंत्रालय इस मामले में कई तरह के एक्सपर्ट पैनल या समितियां बनवाता रहा है। कई पैनलों की ज़रूरत इसलिए पड़ती रही क्योंकि पहले विशेषज्ञ पैनल ने यह कहा था कि 2013 की भीषण प्राकृतिक आपदा के लिए इस तरह के डैम ज़िम्मेदार थे। बाद के पैनल इस दावे से अलग स्टैंड अलग अलग ढंग से लेते रहे। ताज़ा पैनल का निष्कर्ष यह रहा कि डिज़ाइन में कुछ सुधार करके 26 हाइडेल प्रोजेक्टों को आगे बढ़ाया जा सकता है।

कैसे आया यह ताज़ा निष्कर्ष?
लंबे समय के विवाद के बाद जनवरी 2019 में जलशक्ति मंत्रालय ने उन 7 प्रोजेक्टों पर सहमति दी थी, जिन पर पहले ही काफी निवेश किया जा चुका था। फरवरी में प्रधानमंत्री कार्यालय में बैठक के बाद उत्तराखंड के गंगा बेसिन में नए हाइड्रो-इलेक्ट्रिक प्रोजेक्टों पर पूरी तरह बैन की बात कही गई। फिर मार्च 2020 में दास कमेटी ने फाइनल रिपोर्ट दी और अगस्त में उत्तराखंड को ‘हाइड्रो पावर विकास का रास्ता खुलता’ दिखा। फरवरी 2021 में चमोली की बाढ़ में दो प्रोजेक्ट बुरी तरह प्रभावित हुए और अब अगस्त में, सरकार ने 7 प्रोजेक्टों की हिमायत की।

Source link

RELATED ARTICLES

परमार्थ निकेतन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आगमन की तैयारियां

’ऋषिकेश। परमार्थ निकेतन में भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रथम महिला श्रीमती सविता कोविंद जी के आगमन की तैयारियां जोरों पर हैं। परमार्थ...

रवि सैनी ऋषिकेश के नए कोतवाल

ऋषिकेश। रवि सैनी ऋषिकेश के नए कोतवाल होंगे। इसके अलावा छह अन्य पुलिस इंस्पेक्टर को इधर-उधर किया गया है। सभी के आज-कल में नई...

पूर्व फौजी ने पत्नी समेत स्वयं को गोली से उड़ाया, क्षेत्र में सनसनी

ऋषिकेश। रानीपोखरी थाना अंतर्गत रखवाल गांव में एक पूर्व फौजी ने पत्नी समेत स्वयं को गोली से उड़ा दिया है। घटना से क्षेत्र में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

परमार्थ निकेतन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आगमन की तैयारियां

’ऋषिकेश। परमार्थ निकेतन में भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रथम महिला श्रीमती सविता कोविंद जी के आगमन की तैयारियां जोरों पर हैं। परमार्थ...

हरीश रावत की कद्दू छुरी और नासमझ उडयारी पहाड़ी किशोर उपाध्याय

ऋषिकेश। कांग्रेस के दिग्गज नेता पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के कद्दू छुरी वाले बयान पर कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्यक्ष ने स्वयं...

सड़कों की खोदा-खादी हो रही है तो समझो चुनाव आ गया

ऋषिकेश। चुनावी साल में विकास को दिखाने के लिए सड़कों की खोदा-खादी और बनाने का उपक्रम तेजी से हो रहा है तो समझो चुनाव...

गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज पावकी देवी में संविधान दिवस पर कार्यक्रम

ऋषिकेश। गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, पावकी देवी में सविधान दिवस पर आयोजित शैक्षणिक कार्यक्रमों में छात्र/छात्राओं ने बढ़ चढ़कर शिरकत की। इस मौके पर छात्र/छात्राओं...

सेमनागराज त्रिवार्षिक मेला एवं जात में शामिल हुए मुख्यमंत्री

नई टिहरी। विकास की जो घोषणाएं हो रही हैं उन्हें हर हाल में धरातल पर उतारा जाएगा। सरकार का फोकस आम लोगों की बेहतरी...

संविधान दिवस पर गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज पाबौ में कार्यक्रम

पौड़ी। गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, पाबौ में संविधान दिवस पर नेहरू युवा कल्याण केंद्र के बैनर तले भाषण तथा निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।...

श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय की बीएड प्रवेश परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न

ऋषिकेश। श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय की बीएड परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हो गई। परीक्षा के लिए पंजिकृत 6570 में से 5392 छात्र/छात्राएं परीक्षा देने के...

गढ़वाल विवि के दीक्षांत समारोह में शिरकत करेंगे केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान

श्रीनगर। एक दिसंबर को प्रस्तावित हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय के नौवें दीक्षांत समारोह में केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान बतौर मुख्य अतिथि...

मुनिकीरेती में कांग्रेसियों ने लिया संविधान की रक्षा का संकल्प

मुनिकीरेती। संविधान दिवस पर आयोजित संगोष्ठी में कांग्रेसियों ने भारतीय संविधान की रक्षा का संकल्प लिया। इस मौके पर संविधान में आम जन को...

रवि सैनी ऋषिकेश के नए कोतवाल

ऋषिकेश। रवि सैनी ऋषिकेश के नए कोतवाल होंगे। इसके अलावा छह अन्य पुलिस इंस्पेक्टर को इधर-उधर किया गया है। सभी के आज-कल में नई...