गवर्नमेंट पीजी कॉलेज अगस्त्यमुनि में साम्प्रदायिक सदभावना सप्ताह संपन्न

गवर्नमेंट पीजी कॉलेज अगस्त्यमुनि में साम्प्रदायिक सदभावना सप्ताह संपन्न
Spread the love

अगस्त्यमुनि। गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, अगस्त्यमुनि में सप्ताहव्यापी साम्प्रदायिक सदभावना कार्यक्रम संपन्न हो गया। इस दौरान साम्प्रदायिक सौहार्द से संबंधित तमाम कार्यक्रम आयोजित किए गए।

भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन स्वायत्त संस्था ’राष्ट्रीय साम्प्रदायिक सद्भाव प्रतिष्ठान’ के तत्त्वावधान में 19 से 25 नवम्बर 2022 तक साप्ताहिक साम्प्रदायिक सद्भाव अभियान चलाया गया । 19 नवम्बर को सद्भावना हेतु जनजागरूकता रैली एवं मैराथन के साथ इसका शुभारंभ किया गया। 22 नवम्बर को “साम्प्रदायिक सद्भाव : एक हवा एक पानी“ विषय पर निबन्ध प्रतियोगिता एवं 23 नवम्बर को “भय और हिंसा से जूझता बचपन“ विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया ।

शुक्रवार को समापन दिवस एवं झंडा दिवस का शुभारंभ महाविद्यालय की प्राचार्य प्रो. पुष्पा नेगी एवं मुख्य अतिथि पुलिस उपाधीक्षक रुद्रप्रयाग श्रीमती हर्षवर्धनि सुमन ने दीप प्रज्वलित करके किया। इस दौरान पल्लवी एवं अमीषा के द्वारा सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत का सस्वर वाचन करके माँ सरस्वती का आह्वान एवं आतिथ्य सत्कार किया गया ।

कॉलेज की प्रिंसिपल ने छात्र – छात्राओं को सांप्रदायिक सद्भावना धारण करने का महत्त्वपूर्ण संदेश दिया । उन्होंने कहा कि हमें धार्मिक उन्माद, साम्प्रदायिक मतभेद इत्यादि से इतर सृष्टि के कल्याण का भाव रखना चाहिए। उन्होंने स्वामी विवेकानंद से जुड़े विभिन्न प्रेरक प्रसंगों का जिक्र करते हुए कण-कण में ईश्वर हैँ की सूक्ष्म संकल्पना का संदेश दिया ।

मुख्य अतिथि पुलिस उपाधीक्षक रुद्रप्रयाग ने साम्प्रदायिक सद्भाव के महत्त्व के साथ ही छात्र – छात्राओं को सुनहरे भविष्य निर्माण हेतु अनेक महत्त्वपूर्ण परामर्श दिए साथ ही छात्र-छात्राओं की समस्याओं को सुनकर उचित सुझाव दिए । उन्होंने कहा कि कोई भी कार्य असम्भव नहीं होता है, बस आवश्यकता है लक्ष्य निर्धारण करना, निरन्तर प्रयासरत रहना, अपनी ऊर्जा को सकारात्मक दिशा में लगाना एवं मोबाईल इत्यादि तकनीकी माध्यमों का सदुपयोग करना। उन्होंने पुलिस विभाग के समाज की सुरक्षा से जुड़े महत्त्वपूर्ण एप “उत्तराखंड पुलिस एप“ की जानकारी भी दी एवं सभी से मोबाईल में एप डाउनलोड करवाया, साथ ही धूम्रपान, मद्यपान से दूर रहने एवं साइबर क्राइम, ठगी, मानव तस्करी इत्यादि से सतर्क रहने का संदेश दिया ।

कार्यक्रम में करियर काउंसलिंग सेल के संयोजक डॉ. विष्णु कुमार शर्मा ने भी प्रगतिशील भारत के निर्माण के लिए विभिन्नताओं में एकता लाना एवं भविष्य निर्माण हेतु सतत प्रयासरत रहने का संदेश दिया तथामहाविद्यालय के दो पुरातन छात्र जिन्होंने अपने क्षेत्र में विशेष उपलब्धि प्राप्त की राहुल जगोठ एवं राजेन्द्र कुमार ने भी अपने अनुभवों से छात्र-छात्राओं को प्रेरित किया ।

सांस्कृतिक कार्यक्रम के अंतर्गत बी. एड. के प्रशिक्षु स्वाति ग्रुप ने ’खेला झुमैलो’ लोकनृत्य तथा वर्षिका, दीक्षा, अनुष्का,रिया, राखी,सलोनी ने विभिन्न नृत्यों की मनमोहक प्रस्तुति दी। इसके साथ ही “साम्प्रदायिक सद्भावना एवं राष्ट्रीय एकता“ तथा “धर्मनिरपेक्षता एवं प्रगतिशील भारत“ विषय पर क्रमशः भाषण एवं वाद विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें प्रतिभागियों ने साम्प्रदायिक सद्भावना, राष्ट्रीय एकता, धर्मनिरपेक्ष भारत की प्रगतिशील यात्रा पर विस्तार पूर्वक चर्चा की ।

भाषण प्रतियोगिता में शिवानी फर्स्वाण, दीक्षा, विक्रांत चौधरी ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया । वाद – विवाद प्रतियोगिता में विक्रांत चौधरी, शिवानी फर्स्वाण, दीपशेखर सेमवाल ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया । निबंध प्रतियोगिता में भावना पुरोहित, सन्तोषी, दीपशेखर सेमवाल ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया ।

पोस्टर प्रतियोगिता में ज्योतिका, किरण, वैष्णवी तथा हिमानी फर्स्वाण ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया ।प्राचार्य द्वारा मैराथन प्रतियोगिता के विजेताओं सहित उपर्युक्त प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया।

संचालन डॉ. ममता थपलियाल ने किया एवं उन्होंने छात्र-छात्राओं को ’राष्ट्रीय साम्प्रदायिक सद्भावना प्रतिष्ठान’ के तहत चलने वाले विभिन्न अभियानों, योजनाओं की जानकारी दी, साथ ही इस अभियान के उद्देश्य पर विस्तृत चर्चा की ।

साम्प्रदायिक सद्भावना अभियान की संयोजक डॉ. अंजना फर्स्वाण ने साप्ताहिक साम्रदायिक सद्भावना अभियान का निष्कर्ष बताते हुए, अभियान के सफल संचालन के लिए सभी के प्रति आभार प्रकट किया । इस अभियान को सफल बनाने में डॉ. ममता शर्मा, डॉ. नवीन चन्द्र खण्डूरी, डॉ. वी. के. शर्मा, डॉ. आबिदा, डॉ. सुधीर पेटवाल, डॉ. चन्द्रकला नेगी, डॉ. दीप्ति राणा, डॉ. शशिबाला रावत, डॉ. सोनी आर्य, डॉ. मदन नेगी, डॉ. सुनील भट्ट का विशेष योगदान रहा।

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. दलीप सिंह बिष्ट, डॉ. पूनम भूषण, डॉ. हरिओम शरण बहुगुणा, डॉ. के. पी. चमोली, डॉ. निधि छाबड़ा, डॉ. जितेंद्र सिंह, डॉ. वीरेन्द्र प्रसाद, डॉ. राजेश कुमार, डॉ. ममता भट्ट, डॉ. तनुजा मौर्य, डॉ. कनिका बड़वाल, डॉ. रतूड़ी, डॉ. डी. डी. सेमवाल, डॉ. प्रकाश फोन्दनी, डॉ. रुचिका कटियार, डॉ. दीपाली रतूड़ी, डॉ. सुनीता मिश्रा, डॉ. दुर्गेश नौटियाल, डॉ. दीपक पटेल इत्यादि प्राध्यापकों के साथ ही महाविद्यालय के कर्मचारी एवं अनेक छात्र-छात्राएँ उपस्थित रहे ।

Tirth Chetna

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *