गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज मरगूबपुर में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर

गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज मरगूबपुर में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर
Spread the love

कॉलेज के प्राध्यापकों समेत 40 ने किया रक्तदान

तीर्थ चेतना न्यूज

रूड़की। गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, मरगूबपुर में गवर्नमेंट हॉस्पिटल, रूड़की के सहयोग से स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किया गया। इसमें कॉलेज के प्राध्यापकों समेत करीब 40 यूनिट रक्तदान किया गया।

गुरूवार को कॉलेज में आयोजित रक्तदान शिविर का पिरान कलियर के विधायक हजीफुरकान अहमद और प्रिंसिपल प्रो. एसपी सिंह ने शुभारंभ किया। कॉलेज के प्राध्यापक डा. मुकेश कुमार गुप्ता, डा. मंजू अग्रवाल एवं अब्दुल रहमान ने सबसे पहले रक्तदान किया और छात्र/छात्राओं को इसके लिए प्रेरित किया।

क्षे़त्र के विधायक हाजी फुरकान अहमद जी ने “स्वैच्छिक रक्तदान शिविर“ लगाने हेतु कॉलेज के प्रिंसिपल की सराहना की। उन्होंने कहा कि रक्तदान से बड़ा कोई दान नहीं है। एक व्यक्ति रक्तदान के माध्यम से कई जिंदगियां बचा सकता है। उन्होंने युवाओं को रक्तदान के लिए प्रेरित किया।

रुड़की (ब्लडबैंक) के प्रभारी रजत सैनी और एवं टीम लीडर डा0 पवन एवं डा0 प्रवीन कटारिया ने रक्तदान को लेकर कॉलेज के छात्र/छात्राओं के उत्साह की सराहना की। कॉलेज के कुल 40 छात्र/छात्राओं, प्राध्यापको, स्टाफ एवं अभिभावकों ने भी रक्तदान किया।

 प्रिंसिपल प्रो. एस. पी सिंह ने इस अवसर पर सभी छात्र/छात्राओं, प्राध्यापको,स्टाफ एवं अभिभावकों के जनकल्याण हेतु किये गये इस कार्य कीसराहना की एवं भविष्य में और छात्र/छत्राओं की भी रक्तदान के फायदे बताये और प्रोत्साहित किया।

जनहित के इस कार्य में हुसैनिया जूनियर हाईस्कूल मरगूबपुर के मुखिया मास्टर एहसान, प्रधानाचार्य जुलफिकार ने रक्तदान हेतु अपना सहयोग दिया एवं उनके स्टाफ मुर्तजा हसन, मो0 समीम ने भी रक्तदान करके अपनी उपस्थिति दर्ज की इस अवसर पर ज्वालापुर निवासी आशु गुप्ता नेभी रक्तदान किया।

राजकमल सांइस डिग्री कालेज के निदेशक डॉ0राघवेन्द्र चौहान ने भी छात्र/छात्राओं के उत्साहवर्धन हेतु मरगूबपुर के दुर्गम क्षेत्र में आकर रक्तदान किया। इस अवसर डा. शेफाली शुक्ला, डा. अनिल कटियार, डा. मुकेश कुमार गुप्ता, डा. मंजू अग्रवाल, डा. अनिल कुमार, अब्दुल वाहिद, श्रीमती पूनम, अब्दुल रहमान, विजय नेगी, पिन्टू कुमार के साथ-ंउचयसाथ रुड़की ब्लडबैंक के अंजुम रानी, मो0 अफजल, विनीत आदि मौजूद थे।

Tirth Chetna

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *