गवर्नमेंट पीजी कॉलेज नई टिहरी में डाटा बेस सेंटर फॉर हिमालयन फिशेस का शुभारंभ

गवर्नमेंट पीजी कॉलेज नई टिहरी में डाटा बेस सेंटर फॉर हिमालयन फिशेस का शुभारंभ
Spread the love

नई टिहरी। मुख्यमंत्री नवाचार योजना के तहत गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, नई टिहरी में डाटा वेस सेन्टर फॉर हिमालयन फिशेस उत्तराखण्ड को स्थापित किया गया है।

सोमवार को कॉलेज की प्रिंसिपल प्रो. रेनू नेगी ने डाटा बेस सेंटर का उदघाटन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि ये कॉलेज के लिए गर्व की बात है। कहा कि केन्द्र पर नवयुकों के लिए समय- समय पर मत्स्य पालन के नये रोजगार कि रूप में विकसित करने हेतु प्रशिक्षण / कार्यशाला का आयोजन कराया जायेगा।

विषय विशेषज्ञों द्वारा समय समय पर प्रशिक्षण स्थल फिश हैचरी / तालाब पर छात्र – छात्राओं को ले जाकर प्रशिक्षण दिया जायेगा तथा विषय विशेषज्ञों को समय समय पर केन्द्र में आमंत्रित कर नवयुवकों को जागरूक कर स्वरोजगार हेतु तैयार किया जायेगा।

इनके बिभिन्न अनुप्रयोगों का उदेश्य , सतत मत्स्य पालन प्रबन्धन जैव विविधता संरक्षण और प्रर्यावरण संरक्षण है क्योंकि नदियों , झीलों तालाब , इत्यादि के प्रर्यावरण को संतुलित रखने में मछली की विशेष उपयोगिता है इसलिए वैज्ञानिकों द्वारा मछली को जीवन सूचक ( बाओइंडिकेटर ) माना गया है ।

डाटा सेन्टर की नोडल अधिकारी डॉ. कविता काला बताया कि यह केन्द्र एक जैव विविधता सूचना प्रणाली होगा जो प्रमुख हिमालयन नदियों से मिलने वाली मत्स्य व्यवसायिक प्रजातियों के लिए गतिशिलता पर महत्वपूर्ण तथ्य प्रदान करेगा । इसका प्रारम्भिक लक्ष्य ज्ञात सभी हिमालयन मत्स्य प्रजातियों पर विस्तृत जानकारी प्राप्त कर ( जिसमें हिमालयन फिशेस , फीश स्पीशीज , सामान्य नाम , उनके चित्रों के साथ साक्षेदारी में ) संकलित कर इस केन्द्र को विकसित करना है।

इस कार्य हेतु एक वेबसाइट को भी बनाया जायेगा जिसमें उपलब्ध विश्लेषणात्मक और ग्राफिकल टूल के साथ डेटावेस की जानकारी ( वैज्ञानिको , शोधकर्ताओं , नीति निर्माताओं , मत्स्य प्रबन्धको संरक्षण वादियों शिक्षकों और छात्रों ) के बिभिन्न समूह की विभिन्न आवश्यकताओं को पूरा करेगी तथा उक्त केन्द्र के सभी कार्यों के सफल संचालन हेतु फिशरी बिभाग उत्तराखण्ड के साथ साथ एम ओ यू साइन किया जा रहा है जो समय समय पर इस केन्द्र को विकसित करने में अपना सहयोग प्रदान करेगा ।

इस मौके डॉ. डीपीएस भण्डारी एवं डॉ. पदमा वशिष्ठ ने भी मत्स्य पालन हेतु प्रतिभागियों को जागरूक करने के लिए प्रेरित किया। केन्द्र के भविष्य होने वाले कार्यक्रम के लिए प्रतिभागियों का एक एक्सन ग्रुप एवं इस केन्द्र के संचालन हेतु महाविद्यालय स्तर पर एक समिति का गठन भी किया गया है जिसमें डा. कुलदीप रावत , डा . पदमा वशिष्ठ , डा. विजयः प्रकाश सेमवाल , डा. साक्षी शुक्ला , डा. सुमन सिहं गुसाईं डा. पुष्पा पंवार , विजय सिंह पंवार तथा शंकर कुमार शामिल किया गया। कार्यक्रम का मंच संचालन डॉ. साक्षी शुक्ला द्वारा किया गया।

कार्यक्रम में डॉ. संजीव सिंह नेगी , डॉ. दिपेन्द्र सिंह तोपवाल , डॉ. खुशी कान्त बंगवाल , डा. हर्ष नेगी , डॉ. बीडीएस नेगी , तकनीकि सदस्य हरीश मोहन नेगी , श्रीमती सरिता एवं छात्र छात्राओं में मुस्कान , सरोज मनप्रीत , गौरीशंकर , पमीत , मनीषा , दीप्ति , काजल आदि ने प्रतिभाग किया।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.