ऋषिकेश में दिखावा साबित हो रहा जीरो टॉलरेंस

ऋषिकेश में दिखावा साबित हो रहा जीरो टॉलरेंस

ऋषिकेश। तीर्थनगरी ऋषिकेश में प्रदेश सरकार का भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस दिखावा साबित हो रहा है।

तीर्थनगरी ऋषिकेश में सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के निर्देश पहले ही बेअसर साबित होते रहे हैं। अब प्रचंड बहुमत की प्रदेश सरकार का भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस भी यहां दिखावा साबित हो रहा है। कम से कम नगर पालिका के मामले में तो यकीनी तौर पर ऐसा कहा जा सकता है।

कांग्रेस शासन में पालिका में हुई वित्तीय अनियमितताओं की सभासदों की शिकायत की मंडलायुक्त की जांच में पुष्टि हो चुकी है। तब के नगर विकास सचिव शासन से एक्शन की संस्तुति भी कर चुके थे। मगर, एक्शन नहीं हुआ।

शिकायतियों को उम्मीद थी की जीरो टॉलरेंस की बात कर रही भाजपा सरकार कोई एक्शन लेगी। मगर, यहां भी हाल पहले जैसे ही लग रहे हैं। प्रदेश की भाजपा सरकार के इस रवैए को लेकर हर कोई हैरान है।

पालिका में हुई वित्तीय अनियमितताओं पर एक्शन न होने पर हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया गया है। हाईकोर्ट ने अब प्रदेश सरकार से तीन माह में रिपोर्ट मांगी है। कुल मिलाकर ऋषिकेश में प्रदेश सरकार के जीरो टॉलरेंस की परीक्षा होने वाली है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जानिए किस तिथि को बंद होंगे श्री बदरीनाथ धाम के कपाट

ऋषिकेश। आदिधाम श्री बदरीनाथ समेत उत्तराखंड के चारों