मंत्री के बयानों से शिक्षा विभाग हुआ असहज

मंत्री के बयानों से शिक्षा विभाग हुआ असहज

education-deptप्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के एक के बाद एक बयान और निर्णयों से विभागीय अधिकारी असहज महसूस कर रहे हैं।

शिक्षा मंत्री की कुर्सी संभालते ही अरविंद पांडे ने बयानों और दावों से बेहतरी की उम्मीद जगाई थी। लगा था कि प्रदेश को कड़े निर्णय लेने वाला शिक्षा मंत्री मिल गया। मगर, चार माह बाद जो कुछ सामने आ रहा है वो एक तरह से बैक फायर साबित हो रहा है।

सुधार के लिए किए गए उनके एक-एक दावे पंक्चर हो रहे हैं। अब तो शिक्षा मंत्री के निर्णय और बयानों से विभागीय अधिकारी असहज महसूस कर रहे हैं। इसका असर विभाग के विभिन्न स्तरों के कामकाज पर भी दिखने लगा है। शिक्षक और विभाग तमाम मुददों पर आमने-सामने खड़े दिख रहे हैं।

विभाग में तेजी से अविश्वास का माहौल बन रहा है। अनुरोध के आधार पर होने वाले तबादलों पर रोक और कांग्रेस शासन के तबादलों को ग्रीन सिग्नल पर राजकीय शिक्षक संघ नाराज है। प्रचंड बहुमत से सातवें आसमान पर दिख रही भाजपा संगठन को भी शिक्षा विभाग में चल रहे तमाशे का संज्ञान लेने का टाइम नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना मीटरः उत्तराखंड में 24 घंटे में 365 मामले

देहरादून। उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना