12 वीं प्रथम श्रेणी के छात्रों की संख्या घटी

12 वीं प्रथम श्रेणी के छात्रों की संख्या घटी

utt-reउत्तराखंड बोर्ड की 12 वीं की परीक्षा में प्रथम श्रेणी में पास होने वाले छात्रों की संख्या गत वर्ष के मुकाबले घटी है। जबकि 10 वीं के रिजल्ट में सुधार हुआ है।

परीक्षा परिणाम में गुणात्मक की मंथर गति से हो रहा है। अंक प्रतिशत में सुधार मेधा सूची में तो दिख रहा है। मगर, सम्मान सहित पास होने वाले छात्रों की संख्या में ईजाफा ना के बराबर हो रहा है। 12 वीं के परीक्षा परिणाम को देखें तो सम्मान सहित पास होने वाले छात्रों की संख्या गत वर्ष के मुकाबले आधा प्रतिशत की वृद्धि भी नहीं हुई।

गत वर्ष 12 वीं के दो प्रतिशत छात्र सम्मान सहित पास हुए थे। इस वर्ष आंकाड़ा 2़.30 प्रतिशत पर थम गया। प्रथम श्रेणी उत्तीर्ण होने वाले छात्रों की संख्या में एक प्रतिशत की गिरावट रही। गत वर्ष 20.27 प्रतिशत छात्रों ने प्रथम श्रेणी प्राप्त की थी। इस वर्ष 19 प्रतिशत छात्र ही प्रथम श्रेणी में पास हुए।

तृतीय श्रेणी में पास होने वालों की संख्या में दो प्रतिशत का ईजाफा हुआ। गत वर्ष 15 प्रतिशत तो इस वर्ष 17 प्रतिशत छात्र तृतीय श्रेणी में पास हुए। जबकि द्वितीय श्रेणी में पास होने वालों की संख्या में एक प्रतिशत की गिरावट रही। गत वर्ष 61 प्रतिशत तो इस वर्ष 60 प्रतिशत छात्र द्वितीय श्रेणी में पास हुए।

हाई स्कूल के परीक्षा परिणाम में गुणात्मक सुधार देखा गया। सम्मान सहित पास हुए छात्रों की संख्या में गत वर्ष के मुकाबले आधा प्रतिशत से अधिक वृद्धि हुई। गत वर्ष 4.10 प्रतिशत छात्र सम्मान सहित पास हुए थे। इस वर्ष आंकड़ा 4.87 प्रतिशत रहा।

प्रथम श्रेणी में पास हुए छात्रों की संख्या में गत वर्ष के मुकाबले तीन प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई। इस वर्ष 23.53 प्रतिशत छात्रों ने प्रथम श्रेणी प्राप्त की। हाई स्कूल के रिजल्ट में अच्छी बात ये देखी गई कि प्रथम श्रेणी में पास होने वालों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई और द्वितीय और तृतीय श्रेणी में पास होने वालों की संख्या में कमी आई।

इस तरह से कहा जा सकता है कि क्वालिटी के हिसाब से 10 वीं का रिजल्ट अच्छा रहा। जबकि 12 वीं के रिजल्ट गत वर्ष के मुकाबले कमत्तर रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

खास से आम हुआ है गवर्नमेंट पीजी कॉलेज ऋषिकेश

ऋषिकेश। गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, ऋषिकेश खास से आम