केंद्रीय मंत्री के सम्मुख रखा देवप्रयाग का पक्ष

केंद्रीय मंत्री के सम्मुख रखा देवप्रयाग का पक्ष

देवप्रयाग। श्री रघुनाथ कीर्ति आदर्श संस्कृत महाविद्यालय प्रबंधन ने केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री सतपाल सिंह के सम्मुख देवप्रयाग का पक्ष रखते हुए राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान प्रशासन पर समझौते से मुकरने का आरोप जड़ा।

बुधवार को केंद्रीय मंत्री संस्कृत संस्थान के विभिन्न भवनों के शिलान्यास के लिए देवप्रयाग आए थे। इस दौरान श्री रघुनाथ कीर्ति आदर्श संस्कृत महाविद्यालय के प्रबंधक कृष्ण कांत कोटियाल के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने उनसे मुलाकात की और ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान के लिए देवप्रयाग के लोगों द्वारा दी गई निःशुल्क भूमि, इसमें संस्थान के लिए किए गए प्रयासों को पूरा ब्यूरो है। भूमि देते वक्त श्री रघुनाथ कीर्ति आदर्श संस्कृत महाविद्यालय प्रबंधन के माध्यम से देवप्रयाग के लोगों के साथ किए गए समझौता का भी जिक्र किया गया है।

इसमें महाविद्यालय में तैनात शिक्षक और शिक्षणेत्तर कर्मियों को संस्थान में मर्ज करने, प्रथमा से लेकर आचार्य तक कक्षाएं शुरू करने, तृतीय और चतुर्थ श्रेणी में स्थानीय बेरोजगारों को मौका देने, संस्थान की गवर्निंग बॉडी में प्रबंधन के प्रतिनिधि को शामिल करने, राज्य के युवाओं को एडमिशन में वेटेज देने के समझौते प्रमुख रूप से शामिल थे।

ज्ञापन में इस बात का जिक्र किया गया है संस्थान अब इन समझौतों से मुकर रहा है। संस्थान प्रशासन का रवैया ठीक नहीं है। जो कुछ युवाओं को संस्थान में लगाया गया था। उन्हें संस्थान ने निकाल दिया। इससे स्थानीय लोग स्वयं को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। इस दौरान कोटियाल ने श्री रघुनाथ कीर्ति आदर्श संस्कृत महाविद्यालय के शताब्द्धी द्वार को तोड़े जाने की शिकायत की।

प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत, देवप्रयाग के विधायक विनोद कंडारी और पौड़ी के विधायक मुकेश कोहली को भी ज्ञापन सौंपा गया। प्रतिनिधिमंडल में श्याम सुंदर भट्ट, अनिता कोटियाल, वेद प्रकाश भट्ट, अत्रेश ध्यानी, विनोद बडोला, दिनेश चंद्र तिवाड़ी, हरीश चंद्र तिवाड़ी, सुरेश कोटियाल, सुभाष टोडरिया, अनूप, रेखा भट्ट, रचना कोठिवाल आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोविड-19 में लगे एकेश्वर ब्लॉक के शिक्षक परेशान

एकेश्वर। ब्लॉक में विभिन्न स्तरों पर कोविड-19 की