श्राइन एक्ट पर संघ का रवैया भी भाजपा जैसा

श्राइन एक्ट पर संघ का रवैया भी भाजपा जैसा

- in धर्म-तीर्थ
0

देहरादून। राज्य के चारधाम समेत 51 मंदिरों पर सरकार द्वारा जबरन थोपे जो रहे श्राइन एक्ट पर तीर्थ पुरोहित हक हकुकधारियों के विरोध को संघ भी खास तवज्जो देने को तैयार नहीं है।

रविवार को संघ और राज्य सरकार में समन्वय को लेकर आयोजित बैठक में पांचों लोक सभा सांसदों, मुख्यमंत्री और संघ के आला पदाधिकारियों ने शिरकत की। तीर्थ पुरोहितों को उम्मीद थी की संघ चारधाम समेत 51 मंदिरों की स्थापित परंपराओं की पैरवी करेगा। त्रिवेंद्र सरकार से सवाल होंगे।

उम्मीद ये भी थी कि संघ सरकार से पूछेगा कि सिर्फ पहाड़ के मंदिरों के लिए ही श्राइन एक्ट क्यों। मैदान के मठ मंदिरों पर इसे क्यों लागू नहीं किया जा रहा है। मगर, संघ के पदाधिकारियों ने ऐसे कुछ सवाल सरकार से नहीं किए।

श्राइन एक्ट के मामले को बैठक में सरसरी तौर पर लिया गया। सरकार ने जो पक्ष रखा उस पर सभी ने हां पर हां मिला दी। मीडिया तक ये बात प्रचारित की गई कि संघ ने सरकार को इस बारे में तीर्थ पुरोहितों हक हकुकधारियों के हितों का ध्यान रखने की बात कही।

कुल मिलाकर संघ भी आने वाले समय में राज्य के पहाड़ी क्षेत्र के मठ मंदिरों पर लागू किए जा रहे श्राइन एक्ट की पैरवी करे तो आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना अपडेटः 7019 स्वस्थ हुए, 4785 नए मामले और 79 की मौत

देहरादून। राज्य में पिछले 24 घंटे में कोरोना