पौड़ी में स्काउट भवन/ प्रशिक्षण केंद्र का उदघाटन

पौड़ी में स्काउट भवन/ प्रशिक्षण केंद्र का उदघाटन
Spread the love

मौजूदा दौर में स्काउट गाइड की प्रासंगिकता बढ़ीः जिलाधिकारी

तीर्थ चेतना न्यूज

पौड़ी। मौजूदा दौर में स्काउट गाइड की प्रासंगिता समाज के लिए और बढ़ गई है। बेहतर प्रशिक्षण के माध्यम से इसे और मजबूत करने की जरूरत है।

ये कहना है जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे का। जिलाधिकारी मंगलवार को तहसील परिसर के पास भारत स्काउट गाइड भवन में स्टेट लेवल हाइक एवं ओ0वाई0एम0एस0 (ऑनलाइन युथ मेंबरशिप सिस्टम) कार्यशाला तथा नवनिर्मित स्काउट भवन/प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

जिलाधिकारी ने स्काउट गाइड को संबोधित करते हुए कहा स्काउट गाइड की प्रासंगिकता वर्तमान समय में लगातार बढ़ रही है। आपदा प्रबंधन कार्यों से लेकर फर्स्ट ऐड चिकित्सा, सामाजिक जन जागरूकता के साथ ही शासन-प्रशासन के साथ व्यापक सहयोग करने में भी इसका महत्व है। संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा भी इस संस्थान को अंतर्राष्ट्रीय शांति और सहयोग के लिए बहुत सराहना की है।

उन्होंने स्काउट गाइड की आवश्यकता को देखते हुए जनपद में इसके अनेक स्थलों पर केंद्र स्थापित करने के लिए मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि जनपद में इस तरह के दूसरे केंद्र भी स्थापित करें और इस केंद्र की क्षमता को बढ़ाएं तथा अधिक से अधिक स्काउट गाइड को जोड़ें। प्रशिक्षण केंद्र में आपदा प्रबंधन, हैम रेडियो संचालन, फर्स्ट एड सहायता तथा शासन प्रशासन के साथ महत्वपूर्ण कड़ी के रूप में सहयोग प्रदान करने से संबंधित प्रशिक्षण का आयोजन करें। इसके लिए प्रशिक्षण से संबंधित सामग्री से जुड़ी हुई पुस्तकें भी प्रकाशित करें तथा व्यवहारिक आवश्यकता से संबंधित पाठ्यक्रम तैयार करें।

जिलाधिकारी डा. जोगदंडे ने प्रशिक्षण केंद्र में जरूरी सुविधाओं के विकास के लिए एक लाख रूपये देने की भी घोषणा की है। साथ ही स्काउट गाइड परिसर और स्काउट गाइड के रहने के कमरों इत्यादि का भी अवलोकन किया तथा व्यवस्थाओं से संतुष्टि व्यक्त की। उन्होंने स्काउट गाइड की राष्ट्र सेवा और निस्वार्थ सेवा भाव की तारीफ करते हुए कहा कि समाज और राष्ट्र को जितना दोगे आपको वापस किसी न किसी रूप में उसका कई गुना प्राप्त होता है। यही स्काउट गाइड का लक्ष्य है।

इस अवसर पर मुख्य आयुक्त स्काउट गाइड मुख्य शिक्षा अधिकारी डा. आनंद भारद्वाज ने कहा कि जनपद में स्काउट गाइड से संबंधित अनेक रिसोर्स सेंटर विकसित किए जाएंगे तथा जिलाधिकारी द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में इस केंद्र को राज्य स्तरीय प्रशिक्षण केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा, इसकी क्षमता बढ़ायी जाएगी। प्रशिक्षण के लिए स्काउट गाइड के लिए पाठ्यक्रम तैयार किया जाएगा तथा इससे संबंधित सामग्री का प्रकाशन भी किया जाएगा।

प्रदेश सचिव भारत स्काउट गाइड रविंद्र मोहन काला ने कहा कि बड़े सौभाग्य की बात है कि आज स्काउट स्काउट गाइड को जनपद में एक राज्य स्तरीय सेंटर और प्रशिक्षण केंद्र मिल गया है इससे स्काउड गाइड के कार्यो को आगे बढ़ाने का अवसर मिलेगा। यहां पर हैम रेडियो आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण से लेकर विभिन्न सामाजिक क्रियाकलापों में सहयोग प्रदान करने से संबंधित प्रशिक्षण दिया जाएगा।

मंच संचालन करते हुए गणेश खुगशाल ने कहा कि यदि हैम रेडियो संचालन के प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है तो वे प्रशिक्षण प्राप्त कर्ताओं को प्रशिक्षण देने के लिए तैयार हैं। इस दौरान वॉलिंटियर्स स्काउट गाइड के द्वारा उपस्थित अतिथियों को स्मृति चिन्ह और स्काउट गाइड का स्कॉर्प भेंट किया गया तथा स्काउट गाइड का ध्वजारोहण भी किया गया।

कार्यक्रम में जीआईसी पौड़ी के प्रिंसिपल विमल बहुगुणा, जनपद सचिव भारत स्काउट गाइड केशर असवाल, प्रशासनिक अधिकारी वीरेंद्र रावत, सहायक आयुक्त शांति रतूड़ी, जिला आयुक्त मदन मोहन जोशी, समन्वयक प्रदीप रावत, रूपचंद लखेड़ा सहित राहुल रतूड़ी, रघुराज चौहान, शकुंतला नेगी, केशर नेगी आदि उपस्थित थे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.