पुरानी पेंशन बहाली हेतु शिक्षक/कर्मचारियों की कोटद्वार में रैली

पुरानी पेंशन बहाली हेतु शिक्षक/कर्मचारियों की कोटद्वार में रैली
Spread the love

एनपीएस को कर्मचारियों के साथ छल बताया गया

तीर्थ चेतना न्यूज

कोटद्वार। पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर राज्य के सरकारी शिक्षक/कर्मचारियों ने रैली निकाली। इस मौके पर कर्मचारियों ने एक स्वर में कहा कि एनपीएस उनके साथ संस्थागत छल है। इसका हर स्तर पर विरोध किया जाएगा।

राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली आंदोलन की विभिन्न सरकारी विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों ने गुरूवार को जीआईसी, कोटद्वार से तहसील परिसर तक रैली निकाली। रैली से पूर्व अपने सम्बोधन में सचिव अनूप जदली ने कहा कि अगर विधायकों व सांसदों को एक दिन के कार्यकाल पर पेंशन मिल सकती है तो सरकारी कर्मचारी तो तीस से पैंतीस वर्ष तक अपनी सेवाएं देते है तो फिर सरकार पेंशन बंद क्यों कर रही है।

मुख्य संयोजक डॉ महावीर बिष्ट ने बताया कि नई पेंशन योजना में जो कर्मचारी सेवानिवृत हो रहे है उनकी पेंशन एक हजार से डेढ़ हजार के करीब बन रही है इतनी कम पेंशन में सेवानिवृति के बाद उनके घर का गुजारा कैसे होगा।

बहरहाल, नगर के विभिन्न क्षेत्रों से गुजरते हुए रैली तहसील परिसर पहुंची। रैली में शामिल कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली के पक्ष में नारेबाजी कर रहे थे। इस मौके पर कर्मचारियों ने उपजिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को पुरानी पेंशन बहाली हेतु ज्ञापन सौपा।

रैली में अनूप जदली, डॉ महावीर बिष्ट, कैलाश थपलियाल, सुजीत रावत, मनमोहन चौहान, अनिल कोटनाला,अनिल भट्ट, कुलदीप रावत, मुकेश रावत, सुधीर रावत, मनोज रावत, आशीष खर्कवाल, अजय बिष्ट, वरदान बुड़ाकोटी, के के राज, सरिता रौतेला, राज़ी नेगी, ज्ञान सिंह, सचिन बौंठियाल, भास्कर नेगी, सुभाष बिष्ट, राजेश कुकरेती, कुलदीप मनियारी आदि मौजूद थे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.