सरकार! प्रमोशन लटकाने की प्रवृत्ति को भी करें हतोत्साहित

सरकार! प्रमोशन लटकाने की प्रवृत्ति को भी करें हतोत्साहित

- in शिक्षा
1

देहरादून। प्रमोशन फॉरगो करने वाले शिक्षक/कर्मचारी सरकार के निशाने पर हैं। इन्हें हतोत्साहित करने को सरकार ने नियमावली बनाई हैं। मगर, प्रमोशन लटकाने की प्रवृत्ति को हतोत्साहित करने के मामले में सरकार मौन है।

प्रचंड बहुमत की भाजपा सरकार ने हाल ही में प्रमोशन को फॉरगो करने वाले शिक्षक/कर्मचारियों को हतोत्साहित करने के लिए एक नियमावली बनाई है। सरकार का ये कदम अच्छा है। मगर, इसमें सरकार ने कई बातों का ध्यान नहीं रखा। परिणाम नियमावली पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

अच्छा होता कि नियमावली में समय से प्रमोशन का जिक्र भी होता। यही नहीं राज्य में प्रमोशन लटकानी की प्रवृत्ति को हतोत्साहित करने की व्यवस्था भी होती। अक्सर देखा जाता है कि सरकार के स्तर से प्रमोशन में बेवजह का विलंब होता है।

20-25 साल की संतोषजनक सेवा के बाद विभाग तदर्थ प्रमोशन करता है। शिक्षा विभाग में शिक्षकों के प्रमोशन तो मजाक बनकर रह गए हैं। हाई स्कूल में हेडमास्टर और इंटर कालेजों में प्रिंसिपल के रिक्त पद इस बात का प्रमाण है।

एलटी से प्रवक्ता पद को शिक्षा विभाग प्रमोशन प्रचारित करता है। जबकि एलटी/प्रवक्ता का प्रमोशन का पद हाई स्कूल हेडमास्टर है। अब कितने प्रतिशत एलटी शिक्षक हेड मास्टर बन रहे है ? रिटायरमेंट पर हेडमास्टर बनने पर इंटर कालेज के प्रिंसिपल पद के लिए जरूरी आर्हता शिक्षक पूरी नहीं कर पाते।

ऐसा सिर्फ इसलिए होता है कि शासन में प्रमोशन को लटकाने की प्रवृत्ति है। ऐसे में प्रमोशन फॉरगो की प्रवृत्ति को हतोत्साहित करने से पहले प्रमोशन को लटकाने की प्रवृत्ति को हतोत्साहित करना होगा।

यह भी पढ़ेः मास्क न पहना तो लगेगा जुर्माना और मुफ्त में मिलेंगे चार मास्क

यह भी पढ़ेः कॉलेजों में संसाधनों की कमी नहीं होगीःडा. धन सिंह रावत

1 Comment

  1. बहुत ही सार्थक व सारगर्भित लेख के लिए आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं सादर अभिवादन 🙏🙏🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना मीटरःउत्तराखंड में 24 घंटे में 764 नए मामले

देहरादून। उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना