शिक्षकों को वेतन देने में आनाकानी कर रहे प्राइवेट स्कूल

शिक्षकों को वेतन देने में आनाकानी कर रहे प्राइवेट स्कूल

- in ऋषिकेश
0

ऋषिकेश। प्राइवेट स्कूल प्रबंधन शिक्षकों का वेतन देने में आनाकानी कर रहे हैं। फीस कलेक्शन ठीक ठाक होने के बावजूद स्कूल 50 प्रतिशत तक सेलरी काट रहे हैं।

अच्छी शिक्षा का दावा करने वाले कुछ बड़े प्राइवेट स्कूल शिक्षकां को वेतन के लिए तरसा रहे हैं। फीस संकलन भी प्रॉपर होने के बावजूद स्कूल प्रबंधक 50 प्रतिशत तक कम सेलरे दे रहे हैं। ये भी शिक्षकों को समय पर नहीं मिल रही है।

जिन स्कूलों के प्रबंधन के पॉलिटिकल कनेक्शन हैं उनमें से अधिकांश शिक्षकों को वेतन के लिए तरसा रहे हैं। जबकि उनसे काम पूरा लिया जा रहा है। ऑन लाइन शिक्षण के में आने वाला खर्चा भी शिक्षक स्वयं वहन कर रहे हैं।

कहने को तो सरकार वेतन न देने वाले स्कूलों पर नजर बनाए हुए है। मगर, हो कुछ नहीं रहा है। स्कूल प्रबंधन शिक्षकों के साथ मनमर्जी कर रहे हैं। नौकरी जाने के डर से उक्त स्कूलों में पढ़ा रहे शिक्षक चुपचाप अन्याय सहने को मजबूर हैं। मगर, अब स्कूलों की ये हरकतें पब्लिक डोमेन में आने लगी हैं।

शिक्षकों का वेतन मारने वाले स्कूलों के नाम भी सामने आने लगे हैं। सवाल उठ रहे है कि शिक्षक को वेतन के लिए तरसाने वाले स्कूल कैसे अच्छी शिक्षा का दावा कर सकते हैं। लोगों का कहना है कि स्कूल प्रबंधन का फीस कलेक्शन प्रॉपर न होने की बात में अब कोई दम नहीं है।

इसके अलावा कुछ छोटे प्राइवेट स्कूलों की आर्थिक स्थिति जरूर खराब है। वजह उक्त स्कूलों में फीस कलेक्शन ना के बराबर हो रहा है। ऐसे स्कूल प्रबंधन परेशान हैं। उनके लिए स्कूल का संचालन करना मुश्किल हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आम आदमी पार्टी ने बढ़ाया कई दिग्गज नेताओं का ब्लड प्रेशर

पौड़ी। आम आदमी पार्टी ने प्रदेश के राजनीति