उत्तराखंड में प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना का शुभारंभ

उत्तराखंड में प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना का शुभारंभ

देहरादून। समाज की बेहतरी और स्मृद्धि के लिए जरूरी है कि बेटियों को प्रोत्साहित किया जाए। इसके लिए समाज को आगे आना होगा।

ये कहना है प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का। मुख्यमंत्री बुधवार को सर्वे चैक स्थित आईआरटीडी ऑडिटोरियम में राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के तहत प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना का शुभारंभ के मौके पर बोल रहे थे।

इस अवसर पर उन्होंने 50 नवजात बालिका शिशुओं को वैष्णवी किट का वितरण एवं बालिकाओं के विकास पर आधारित प्रारम्भिक एक हजार दिनों पर आधारित सुनहरे 1000 दिन के कलैण्डर का विमोचन भी किया।

मुख्यमंत्री रावत ने प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए बेटियों की सुरक्षाए सुविधा एवं समृद्धि के लिए सबको एकजुट होकर आगे बढ़ना होगा। बेटियां प्रदेश के विकास में बेटों के समान बराबरी का योगदान कर सकें। इसके लिए उन्हें समान रूप से आगे बढ़ाना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के पांच जिलों पिथौरागढ़, चंपावत चमोली, हरिद्वार एवं देहरादून में लिंगानुपात में असमानता है। पांच सालों में इस लिंगानुपात के अन्तर को संतुलित करना सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि पिछले 09 माह में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर जागरूकता से पिथौरागढ़ में बाल लिंगानुपात में बेटियों की संख्या में वृद्धि हुई है। जो 09 माह पहले एक हजार बालकों पर 813 थी आज बढ़कर 934 हो गई है।

उन्होंने कहा कि सीएम डैशबोर्ड में बनाए गये गुड्डागुड्डी बोर्ड के माध्यम से बाल लिंगानुपात की लगातार समीक्षा की जा रही है। जिन जिलों में बालिकाओं की संख्या में कमी होगी, उन पर विशेष रूप से ध्यान दिये जाने में इससे मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि यह समय रूढ़िवादी विचारधारा से हटकर आगे बढ़ने का है।

प्रमुख सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने कहा कि मातृत्व एवं शिशु मृत्युदर को कम करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री मातृत्व वन्दना योजना की प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रत्येक सप्ताह समीक्षा की जा रही है।

इस योजना के तहत बालिका के जन्म पर पांच हजार रूपये की धनराशि ऑनलाईन माध्यम से गर्भवती महिला के बैंक खाते में चली जायेगी। इस अवसर पर महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग के अपर सचिवध्महानिदेशक कैप्टन आलोक शेखर तिवारी आदि मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जुट जाएं तैयारी में, प्रवक्ता पद हेतु परीक्षा तिथि तय

हरिद्वार। राज्य के राजकीय इंटर कालेजों में प्रवक्ता