बहुगुणा और आर्य की दूसरी पीढ़ी विधानसभा में

बहुगुणा और आर्य की दूसरी पीढ़ी विधानसभा में

News-geneकांग्रेस से बगावत कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा और कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य अपनी बेटों को भी विधानसभा पहुंचाने में सफल रहे।

विजय बहुगुणा के बेटे सौरभ बहुगुणा सितारगंज और यशपाल आर्य के बेटे संजीव आर्य नैनीताल से भाजपा के टिकट पर चुनाव जीते। राज्य गठन के बाद पहली बार ऐसा हुआ कि नेता अपनी दूसरी पीढ़ी को विधानसभा में पहुंचाने में सफल रहे।

इसी प्रकार गढ़वाल सांसद एवं पूर्व मुख्यमंत्री जनरल भुवन चंद्र खंडूड़ी भी अपने बेटी को यमकेश्वर से विधायक बनाने में सफल रहे। दूसरी पीढ़ी के विधानसभा पहुंचने के बड़े मायने हैं। इस तरह से कहा जा सकता है कि विजय बहुगुणा, यशपाल आर्य कांग्रेस से भाजपा में आने से बड़े लाभ में रहे।

इस बार मुख्यमंत्री हरीश रावत, केबिनेट मंत्री इंदिरा हृदयेश समेत अन्य नेता भी अपने बेटे और बेटियों के लिए टिकट की पैरवी करते रहे। मगर, सफल नहीं हुए।
माना जा रहा था कि हरीश रावत दो सीटों पर चुनाव जीतेंगे। इसके बाद एक सीट अपने बेटे/बेटी के हवाले कर देंगे। मगर, मोदी की लहर में वो स्वयं ही दोनों सीटों से चुनाव हार गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आम आदमी पार्टी ने बढ़ाया कई दिग्गज नेताओं का ब्लड प्रेशर

पौड़ी। आम आदमी पार्टी ने प्रदेश के राजनीति