पीएम मोदी के निर्वाचित संवैधानिक मुखिया के रूप मे 20 साल बेमिसाल

पीएम मोदी के निर्वाचित संवैधानिक मुखिया के रूप मे 20 साल बेमिसाल

- in राजनीति
0

नरेश बंसल।
देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले 20 सालों से निर्वाचित संवैधानिक मुखिया के रूप में भारतीय राजनीतिक व्यवस्था में नए प्रतिमान स्थापित किए है।

7 अक्तूबर 2001 को पहली बार नरेंद्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। आज वो देश के प्रधानमंत्री हैं। इन 20 सालों में देश की सेवा के प्रतिमान स्थापित किए हैं। निर्वाचित संवैधानिक मुखिया के पद पर 20 साल हो गए हैं। बिना रूके बिना थके विगत 20 वर्षों से निर्वाचित संवैधानिक मुखिया के रूप में देश सेवा में मिसाल पेश की है।

प्रधानमंत्री मोदी ने निरंतर दृढ़ संकल्पित होते हुए देश आगे कैसे बढ़े इस ओर कार्य किया है। भारत के प्रधानमंत्री के रूप में निष्पक्ष, स्पष्टवादी, भष्ट्राचार मुक्त, सबका साथ सबका विकास करने वाली सरकार दी है। उसके लिए उनका हार्दिक साधुवाद।

विश्व में मोदी के साहसिक निर्णयों की जिस तरह तारिफ हो रही है तथा विश्व के सभी मजबूत देश आज भारत के प्रधानमंत्री जी की ओर हर विषय में जिस तरह देखते है, उसने एक मजबूत भारत की छवि पूरे विश्व में बनाई है।

जिस तरह चाहे राम मंदिर का मुद्दा हो चाहे कोरोना संकट काल हो, या फिर चीन/पाकिस्तान से मतभेद हों, तीन तलाक और धारा 370 आदि एवं देश के सर्वांगीण विकास व विदेश नीति हर विषय पर मोदी सरकार ने देश हित में कार्य किया है एवं विकास पंक्ति के अन्तिम व्यक्ति तक कैसे पहुँचे केवल इस ओर कार्य किया है। आज भारत की ओर कोई भी आँख दिखाते हुए सोचता है कि ये नया भारत है, मजबूत भारत है, मोदी का भारत है।

आगे उन्होंने मोदी जी के कार्यकाल पर प्रकाश डालते हुए निम्न बिन्दुओं का उल्लेख किया। सात अक्टूबर 2001 को पहली बार नरेन्द्र मोदी जी ने गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वर्ष 2002 में गुजरात विधानसभा चुनाव में गुजरात बीजेपी को ऐतिहासिक विजय दिलायी।

वर्ष 2003 में गुजरात में निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए पहले वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन कराया। वर्ष 2004 में बेटियों की पढ़ाई को बढ़ावा देने के लिए कन्या केलवणी योजना और शाला प्रवेशोत्सव कार्यक्रम की शुरुआत की गई।

वर्ष 2005 में राज्य में शिशु लिंग अनुपात में कमी को रोकने के लिए बेटी बचाओ अभियान की शुरूआत की जिसके बाद राज्य में बेटियों की जन्म दर में वृद्धि देखी गई। वर्ष 2006 में गुजरातवासियों को 24 घंटे बेहतर विद्युत आपूर्ति के लिए ज्योति ग्राम योजना का तोहफा दिया।

वर्ष 2007 में नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में बीजेपी ने गुजरात में तीसरी बार विधानसभा चुनाव जीता और सबसे लंबे समय तक गुजरात की सेवा करने वाले मुख्यमंत्री बने। वर्ष 2008 में गुजरात की धरती पर टाटा नैनो का स्वागत किया जिससे गुजरात कार मैन्युफैक्चरिंग का हब बना। वर्ष 2009 में प्रदेश के आम लोगों के जीवन को आसान बनाने के लिए ई-ग्राम विश्व-ग्राम योजना का उद्घाटन कर 13693 ग्राम पंचायतों को ऑनलाइन जोड़ा गया।

वर्ष 2010 में गुजरात के 50 वर्ष के इतिहास को अगले 1000 वर्ष तक सहजने के लिए 90 किग्रा के टाइम कैप्सूल में किया सील। 17 सितंबर 2011 को सद्भावना मिशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया तथा अलग अलग स्थानों पर लगभग 50 लाख लोगों ने हिस्सा लिया।

26 दिसंबर 2012 को नरेंद्र मोदी जी लगातार चौथी बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने। 13 सितंबर 2013 को भारतीय जनता पार्टी ने वर्ष 2014 में होने वाले लोकसभा चुनाव में पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाने का निर्णय लिया गया।
26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी जी ने भारत के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली। वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की पहल पर 21 जून 2015 को दुनिया भर में पहला अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। इसी वर्ष सयुंक्त राष्ट्र संघ द्वारा पारित सतत विकास लक्ष्यों को 2030 तक पूर्ण किये जाने की प्रतिबद्धता परम श्रद्धेय माननीय प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत सरकार द्वारा जताई गई है। सतत विकास लक्ष्यों का कार्यान्वयन सभी प्रदेशों द्वारा किया जा रहा है।

वर्ष 2016 में भ्रष्टाचार काले धन और जाली मुद्रा से लड़ने के लिए नोटबंदी की गई डिजिटल लेन देन के लिए भीम लॉन्च किया गया।वर्ष 2017 में एक देश एक कर प्रणाली लागू किया गया। वर्ष 2018 में दुनिया की सबसे ऊँची प्रतिमा सरदार बल्लभ भाई पटेल जी की स्टेचू ऑफ यूनिटी राष्ट्र को समर्पित की गयी।

इसी वर्ष सितम्बर माह में मुस्लिम महिलाओं के लिए अभिशाप माने जाने वाला तीन तलाक को समाप्त कर मुस्लिम महिलाओं के जीवन में सुधार लाया गया।
वर्ष 2019 में नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा को रिकॉर्ड 303 सीटें मिली और मोदी जी प्रचंड जीत के साथ लगातार दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री बने। इसी वर्ष अगस्त में भारत सरकार द्वारा राज्य सभा में जम्मू कश्मीर राज्य से संविधान का अनुच्छेद 370 हटायी गयी।

वर्ष 2020 में सही समय पर पूर्ण लॉकडाउन लगाकर कोरोना संक्रमण से करोड़ों लोगों का जीवन सुरक्षित किया। इसी वर्ष दशकों से लम्बित श्री राम मंदिर निर्माण माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुरूप श्री राम मंदिर निर्माण प्रारम्भ किया गया।

मानननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में ध्वजवाहक योजनाओं जैसे जन-धन योजना, किसान सम्मान निधि, श्रमिक कल्याण, डीबीटी, मुद्रा योजना आदि योजनाओं को लागू किया गया जिसका अनुश्रवण प्रदेश स्तर पर बीस सूत्री कार्यक्रम के अन्तर्गत किया जा रहा जिससे जनता को योजनाओं का लाभ मिल रहा है।

लेखक भाजपा नेता एवं राज्य स्तरीय बीस सूत्रीय कार्यक्रम के उपाध्यक्ष हैं।

 

यह भी पढ़ेः मुख्यमंत्री ने दिलाई कोविड-19 को लेकर ऐतिहात बरतने की शपथ

यह भी पढ़ेः भाजपा नेता भास्कर नैथानी नहीं रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना मीटरः 213 नए मामले, छह की मौत और 422 ठीक हुए

देहरादून। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के