विचारों के मकड़जाल से बाहर निकलेंः चंद्रशेखर

विचारों के मकड़जाल से बाहर निकलेंः चंद्रशेखर

mediस्वस्थ जीवन के लिए मन पर काबू रखें। इसके लिए जरूरी है कि विचारों के मकड़जाल से बाहर निकलें।

ये कहना है गिनीज वर्ल्ड होल्डर डा. बीके चंद्रशेखर का। डा. चंद्रशेखर यहां स्वामी राम आश्रम परिसर में पिरामिड स्प्रीच्युल सोसाइटी मूवमेंट के बैनर तले चल रहे महा योग ध्यान कुंभ के दूसरे दिन माइंड एंड हेल्थ मैनेजमेंट यूजिंग साइको न्यूरोबिक विषय पर बोल रहे थे।

1उन्होंने मन-मस्तिष्क और शरीर की प्रभावी ढंग से व्याख्या प्रस्तुत की। कहा कि अब डॉक्टर भी मानने लगे हैं कि सभी बीमारियों की वजह मन का असतुंलन है। असंतुलन विचारों के मकड़जाल से आ रहा है। मन पर नकारात्मक बातों की ओर उन्मूख न हो इसके लिए विचारों के मकड़जाल से बाहर निकलना होगा।

इसके लिए उन्होंने तमाम तरीके बताए। इस मौके पर उन्होंने व्यक्ति में खुशी और ऊर्जा के स्तर का डेमो भी दिया। बताया कि कैसे मन को स्वस्थ रखा जा सकता है। इस दौरान उन्होंने ध्यान साधकों के मन,मस्तिष्क और विचारों से संबंधित सवालों के विस्तार से जवाब दिए।

सुबह के सत्र में ब्रहमऋषि सुभाष पत्री और आचार्य सुनील में म्यूजिक मेडिटेशन पर विस्तार से साधकों को जानकारी दी। साथ ही ध्यान का अभ्यास भी कराया। इस सत्र में देश के विभिन्न हिस्सों से आए करीब डेढ़ हजार साधकों ने शिरकत की।

इससे पूर्व ध्यान साधक नीता दुआ ने ध्यान से मिली जीवन की राह के बारे में अपने अनुभव साधकों से साझा किए। इस मौके पर पिरामिड स्प्रीच्युल सोसाइटी मूवमेंट के डीएलएन शास्त्री, वसंता शास्त्री, अर्जुन कम्बोजा, अरूणा सहगल, किशोर, रोशन आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सीएमओ के आश्वासन पर पालिकाध्यक्ष और स्वास्थ्य कर्मियों का अनशन स्थगित

देवप्रयाग। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के संविदा कर्मियों के