मेयर अनिता ममगाईं की प्रशासनिक क्षमताओं का शहर को मिल रहा लाभ

मेयर अनिता ममगाईं की प्रशासनिक क्षमताओं का शहर को मिल रहा लाभ

- in ऋषिकेश
0

ऋषिकेश। नगर निगम ऋषिकेश गठन के बाद बहुत कम समय में बेहतर व्यवस्था बनाने में सफल रहा है। इसके पीछे मेयर श्रीमती अनीता ममगाईं के प्रशासनिक क्षमता और राजनीतिक सूझबूझ है।

निकाय चुनाव में मेयर पद पर भाजपा ने श्रीमती अनिता ममगाईं में दांव लगाया। पार्टी का ये दांव सटीक बैठा। करीब डेढ़ दशक बाद निकाय की सबसे बड़ी कुर्सी भाजपा के हाथ लगी। मेयर बनने के बाद अनिता ममगाईं ने भाजपा संगठन को निराश नहीं होने दिया।

निकाय की राजनीति को उन्हें न केवल अच्छे से हैंडिल किया बल्कि अपनी प्रशासनिक क्षमताओं का लोहा भी मनवाया। राजनीतिक विरोधियों को वो हर मोर्चे पर साधती रही हैं। उन्हें इसमें हर स्तर पर सफलता भी मिली। निगम और शहर में दो सालों में तमाम ऐसे मामले सामने आए जिन पर विवाद की स्थिति बनी।

मेयर ने राजनीतिक सूझबूझ दिखाते हुए एक-एक का निदान कराया। हर मामले में उन्हांने स्वयं कमान संभाली और मंझे हुए नेता की तरह मामलों का निस्तारण कराया। एक नेता के तौर पर मेयर की राजनीतिक सूझबूझ और प्रशासनिक क्षमता का विपक्ष भी लोहा मानने लगा है। लॉकडाउन के दौरान जिस प्रकार से मेयर स्वयं सड़कों पर लोगों की मदद और जागरूकता के लिए दिखी उसने सभी का ध्यान आकृष्ठ किया।

एम्स में स्थानीय लोगों की पैरवी करते हुए अलग से रजिस्ट्रेशन काउंटर खुलवाना बड़ी उपलब्धि है। कुल मिलाकर मेयर की सक्रियता और प्रशासनिक क्षमता का शहर को लाभ मिल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना मीटरःउत्तराखंड में 24 घंटे में 764 नए मामले

देहरादून। उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना