दैनिक जीवन में गणित की उपयोगिता

दैनिक जीवन में गणित की उपयोगिता
Spread the love

ऋषिकेश। श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय के गणित परिषद के बैनर तले गणित के माध्यम से अभिनव और रचानात्मक चरित्र निर्माण विषय पर आयोजित संगोष्ठी में दैनिक जीवन में गणित की उपयोगिता पर प्रकाश डाला गया।

संगोष्ठी में छात्रों ने पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से दैनिक जीवन में गणित के इतिहास से लेकर दैनिक जीवन में इसकी उपयोगिता को शानदार तरीके से प्रस्तुत किया। विभागाध्यक्ष प्रो. अनीता तोमर ने कहा कि गणित का रचनात्मक चरित्र निर्माण को खास महत्व होता है।

उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजन से गणित के विभिन्न अवयवों को जानने, इसे समझने की क्षमता विकसित करने में मदद मिलती है। साथ ही गणित के प्रति रूचि में बढ़ती है।

एसोसिएट प्रो. दीपा शर्मा ने कहा कि गणित परिषद के स्तर से आयोजित की गई प्रतियोगिताओं के बारे में जानकारी देते हुए सभी अतिथियों का आभार प्रकट किया। इस मौके पर आयोजित पोस्टर प्रतियोगिता में गौरव रयाल ने प्रथम, साक्षी रावत ने द्वितीय और वैशाली चमोली ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।

गणितीय माडल प्रतियोगिता में पाखी धीमान ने प्रथम, विशाल ने द्वितीय, नेहा भास्कर और अमृत्स ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। क्विज प्रतियोगिता में सुजाता शर्मा, मानसी गिरी, मानसी पोखरियाल की टीम प्रथम रही।

पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन में मनीषा कंडवाल प्रथम, अनुराग सिंह द्वितीय और दीपिका जोशी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
इस मौके पर डा. गौरव वैष्णव, डा. अहमद परवेज, डा. धीरेंद्र सिंह, डा. सुरमान आर्य, डा. स्मिता बडोला, डा. विभा कुमार, डा. विमल बहुगुणा, आदि मौजूद थे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.