सरकार! बेलगाम बाजार पर भी गौर करें

सरकार! बेलगाम बाजार पर भी गौर करें

ऋषिकेश। कोरोना के बहाने बाजार बेलगाम होते जा रहे हैं। सरकारी मशीनरी को इस आंखें मूंदे हुए है। परिणाम लोग कोरोना की दहशत और इसके नाम पर बाजार की महंगाई से पस्त हो रहे हैं।

दवाइयां की कालाबाजारी और चुपके से दाम बढ़ाने की प्रैक्टिस रोजमर्रा की जरूरत के सामान में भी दिखने लगी है। फल-सब्जी के दामों पर मंडी के गेट से बाहर निकते ही आग लग रही है। सड़कों पर फल-सब्जी के दुगने तक दाम बड़े ठसक से लिए जा रहे हैं।

मंडी समिति दाम को सोशल मीडिया में बता रही है। मगर, इस पर बेचने वाले कहां गौर कर रहे हैं। इसे लागू करने वाली मशीनरी भी दूर-दूर तक नहीं दिख रही है। वजह बड़ी मशीनरी को वोट खोने का डर जो है।

सरकार से धंधा करने के लिए जगह मांगने वालों के इस रवैए से हर कोई हैरान है। फल-सब्जी ही नहीं अपनी दुकान वालों ने भी चुपके से जरूरी सामान की दाम बढ़ा दिए हैं। दुकान के गेट पर लगी रस्सी से उचककर बिल देख रहे लोग कुछ बोलने की स्थिति में नहीं हैं।

जो बोल रहे हैं उन्हें कभी आगे से महंगा आने की बात कहकर तो कभी ठेठ व्यापारी भाषा में समझाया जा रहा है कि फलां आइटम में तेजी है। बाजार के इस खेल जरूर सरकारी मशीनरी की जानकारी में होगा। मगर, कहीं से कुछ एक्शन की उम्मीद अब लोग नहीं कर रहे हैं।

हां, लोग सरकार को जरूर कोस रहे हैं। यही नहीं तमाम सवाल भी उठाए जा रहे हैं। हां, सुनने वाला कोई नहीं दिख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

प्रकृति की सत्ता को स्वीकारना होगाः डा. मधु थपलियाल

देहरादून। जलवायु परिवर्तन से तेजी से छीज रही