महिला दिवस पर टिहरी की डीएम और दून की पुलिस कप्तान सम्मानित

महिला दिवस पर टिहरी की डीएम और दून की पुलिस कप्तान सम्मानित

- in देहरादून
0

देहरादून। पोषण अभियान व बेटी बचाओ अभियान में सराहनीय कार्य करने वाली टिहरी की जिलाधिकारी और देहरादून की एसएसपी को महिला दिवस के मौके पर सम्मानित किया गया।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर राज्य भर में कार्यक्रमों की धूम रही। विभिन्न राजनीतिक और सामाजिक संगठनों ने विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता दर्शन हॉल में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने महिलाओं की बेहतरी के लिए राज्य सरकार के स्तर से किए जा रहे कार्यों के बारे में बताया।

कहा कि समाज के सर्वागीण विकास के लिए महिलाओं का सशक्त होना जरूरी है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने आशा कार्यकत्रियों के वार्षिक पारिश्रमिक को 5 हजार रूपये से बढ़ाकर 17 हजार तथा दाई के मासिक पारिश्रमिक को 500 से बढ़ाकर 1000 रूपये करने की घोषणा की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को स्मार्ट फोन व वजन मशीन का वितरण भी किया। प्रदेश की सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को कार्य में तेजी लाने के उद्देश्य से स्मार्ट फोन दिये जा रहे हैं।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने पोषण अभियान व बेटी बचाओ अभियान में सराहनीय कार्य करने वाले अधिकारियों को सम्मानित किया। जिलाधिकारी टिहरी सोनिका को पोषण अभियान व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून श्रीमती निवेदिता कुकरेती को सखी ई-रिक्शा लॉच में अहम योगदान व पोस्को में अपराधों के निवारण में सराहनीय कार्य के लिए सम्मानित किया गया। इसके अलावा पोष्टिक आहार व बेटी बचाओं में अच्छा कार्य करने वाले जिला स्तरीय अधिकारियों को भी सम्मानित किया गया।

महिला सशक्तिकरण व बाल विकास राज्य मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने कहा कि आर्थिक, समाजिक, राजनीतिक व मानसिक रूप से महिलाओं का सशक्त होना जरूरी है। जहां नारियों का सम्मान होता है, वहां देवता निवास करते हैं। देवभूति उत्तराखण्ड में तीलू रौतेली, गौरा देवी, टिंचरी माई जैसी वीरंगनाओं ने जन्म लिया है। उन्होंने कहा कि सभी क्षेत्रों में महिलाएं अच्छा कार्य कर रही हैं। हर क्षेत्र में महिलाओं कीभागीदारी से ही समाज का सर्वांगीण विकास हो सकता है।

विधायक गणेश जोशी ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार ने महिला सशक्तीकरण के लिए अनेक सराहनीय कदम उठाये हैं। बेटियों को सशक्त कर की समाज को मजबूत बनाया जा सकता है। अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने कहा कि बालिकाओं से सम्बन्धित विषयों पर राज्य सरकार ने अनेक पहल की हैं। प्रधानमंत्री जी के ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान के काफी अच्छे परिणाम मिले हैं। आंगनबाड़ी केन्द्रों व अस्पतालों में गुड्डा-गुड्डी बोर्ड लगाये गये हैं। निदेशक आईसीडीएस सुश्री झरना कमठान, उपनिदेशक श्रीमती सुजाता डीपीओ देहरादून आदि उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सावधान! कोरोना को लेकर लापरवाही ठीक नहीं

ऋषिकेश। कोरोना के केस जरूर कम हो रहे