बजरंग झूला से पहले मूर्छित लक्ष्मण झूला पुल हो सही

बजरंग झूला से पहले मूर्छित लक्ष्मण झूला पुल हो सही

- in ऋषिकेश
0

ऋषिकेश। झूला पुलों का राम दरबार पूरा करने के लिए बजरंग झूला पुल की बात जोर शोर से होने लगी है। जबकि साल भर से मूर्छित लक्ष्मण झूला पुल की कोई सुध नहीं ले रहा है। इस तरह से झुला पुलों का राम दरबार लगाने की मंशा पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

तीर्थनगरी ऋषिकेश में झूला पुलों के राम दरबार में लक्ष्मणझूला पुल सबसे पुराना है। जानकी सेतु अभी कुछ ही दिन पूर्व अस्तित्व में आया। अब बजरंग झूला पुल बनाने की तैयारी हो रही है। केंद्रीय सड़क निधि के तहत इसका प्रस्ताव भेजा गया है।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के ऐलान के बाद बजरंग झूला पुल की चर्चाएं जोर शोर से होने लगी हैं। इस बीच करीब साल भर से मूर्छित लक्ष्मण झूला पुल की सुध कोई लेने को तैयार नहीं है। लोगों की सेवा करते-करते बुढ़ा गए इस पुल की मजबूती के लिए अभी तक कुछ नहीं हुआ।

ये बात अलग है कि सरकार और लोक निर्माण विभाग लक्ष्मणझूला पुल को मजबूती देकर उसे चाक चौबंद करने की बात करते रहे हैं। स्थानीय लोगों ने इसको लेकर आंदोलन किया तो इस पर खूब मीडिया ट्रायल कराया गया।

लगा कि अभी नए पुल पर काम शुरू हो जाएगा। मगर, ऐसा नहीं हुआ। अब तो सरकार लक्ष्मणझूला की सुध लेने तक को तैयार नहीं है। इस तरह से झूला पुला का राम दरबार आकार लेने से पहले सवालों के घेरे में आ गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना मीटरः 10 की मौत, 618 नए मामले 560 हुए ठीक

देहरादून। उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में 618