मध्य प्रदेश के झाबुआ का कड़कनाथ बनेगा पौड़ी में रोजगार का जरिया

मध्य प्रदेश के झाबुआ का कड़कनाथ बनेगा पौड़ी में रोजगार का जरिया

- in पौड़ी
0

पौड़ी। मध्य प्रदेश का आदिवासी जिले  झाबुआ की पहचान कड़कनाथ अब पौड़ी जिले में रोजगार का जरिया बनेगा। जिले में कड़कनाथ के वार्मवेलकम की तैयारियां शुरू कर दी गई है।

कड़कनाथ यानि काले रक्त और काली हडडी वाला मुर्गा। ये मध्य प्रदेश के आदिवासी जिले झाबुआ में पाया जाता है। इसकी खासी मांग है। हाल के सालों में देश के विभिन्न हिस्सों में इसका पालन शुरू किया गया है। लो कॉलेस्ट्राल के गुणव की वजह से इसके मीट को खासा पसंद किया जाता है।

इस तरह से कड़कनाथ के पालन को पौड़ी जिले में इंट्रोडयूज कराने की तैयारी है। ताकि एक ओर कडकनाथ मुर्गी पालन से जहां क्षेत्र में खाली हाथ को रोजगार मिलेगा, वहीं लोगों को स्वास्थ्य वर्धक पौष्टिक आहार भी मिल सकेगा। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने हेतु बाजार में कड़कनाथ की मांग तेजी से बढ़ रहा है।

मुर्गी पालक की अच्छी आमदनी में कडकनाथ सहायक बनेगा। जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ब्याल ने इस दिशा में लोगों को प्रोत्साहित करना शुरू कर दिया है। गर्ब्याल ने आज विकास भवन सभागार पौड़ी में जनपदवासियों के लिए स्वरोजगार को बढ़ावा देने हेतु संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

उन्होने कास्तकारों को पशुपालन के क्षेत्र में गौवंशीय पशुओं में बांझपन की समस्या को दूर करने तथा अच्छे नश्ल की पशुओं की वृद्धि हेतु सामुहिक कृत्रिम गर्भाधान योजना पर ओर तेजी से कार्य करने के निर्देश दिये।

वहीं कड़कनाथ मुर्गी पालन के तहत क्षेत्र वासियों को स्वरोजगार के क्षेत्र में समृद्ध बनाने हेतु हिमालयन फ्री रेंज पॉट्री आर्गनाइज्ड कड़कनाथ ब्रीड का शुभारंभ हेतु रूप रेखा तैयार करने के निर्देश दिये। जिस पर संबंधित अधिकारी ने कड़कनाथ मुर्गी पालन की विस्तृत जानकारी दी तथा बताया कि कडकनाथ मुर्गी में उच्च प्रोटीन एवं न्यून बसा का एक नायाब श्रोत है, इसमें कॉलेस्ट्राल का स्तर भी काफी कम होने के कारण हृदय रोग रोकने की अपार क्षमता से मुर्गी एवं अण्डे की बाजार में काफी मांग है।

जिलाधिकारी ने कहा कि समस्त ब्लाकों के ग्रामीण क्षेत्रों के स्वरोजगार हेतु इच्छुक कास्तकारों को हिमालयन फ्री रेंज पॉट्री, आर्गनाइज्ड कड़कनाथ पोल्ट्री योजना से जोड़ा जाय। उन्होने संबंधित अधिकारी को जनपद में कडकनाथ पोल्ट्री प्रोडेक्शन का कलस्टर बनाकर मार्केटिंग चैनल एवं प्रत्येक विकास खण्ड में मदर पोल्ट्री कम पोल्ट्री फैसिलिटी सेन्टर की स्थापना करने के निदेश दिये। साथ ही कहा कि बैरोजगार लोगों को दक्ष बनाकर स्वरोगार से जोडने हेतु सभी को संकल्पित भाव से कार्य करने होगें।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु खुराना, एपीडी सुनील कुमार, एलडीएम एन. के. शाह, नवार्ड, डीडीएम भूपेन्द्र सिह, सीएचओ डा. नरेन्द्र कुमार, सीएओ डी एस राणा, जिला पर्यटन अधिकारी के.एस. नेगी, बैक मनेजर पीएनबी जितेन्द्र सिह, एसबीआई आशीष रावत, सहित संबंधित अधिकारी उपस्थि थे।

यह भी पढ़ें: पौड़ी के कंडोलिया जंगल में हौले हौले उतर रहा इक अधूरा ख्वाब

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में चार और कोरोना संक्रमित, 67 हुई संख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना अपडेटः 515 स्वस्थ हुए, 274 नए मामले और 18 की मौत

देहरादून। राज्य पिछले 24 घंटे में 515 लोग