क्या रिटायर्ड शिक्षकों की सेवाएं लेना चाहती है सरकार

क्या रिटायर्ड शिक्षकों की सेवाएं लेना चाहती है सरकार

Retired-teacherक्या प्रदेश की भाजपा सरकार शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए रिटायर्ड शिक्षकों की सेवा लेना चाहती है।

हाल ही में प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे का इस संबंध में बयान सामने आया। इसके आशंका हो रही है कि क्या सरकार युवाओं के बजाए रिटायर्ड शिक्षकों से का चलाना चाहती है। शिक्षा मंत्री के इस बयान से प्रशिक्षित बेरोजगार भड़के हुए हैं। बेरोजगार अपने भविष्य के प्रति आशंकित हो चले हैं।

प्रदेश में पांच हजार से अधिक अतिथि शिक्षक और करीब एक हजार एलटी उत्तीर्ण बेरोजगार नियुक्ति की मांग को लेकर सड़कों पर है। डीएलएड प्रशिक्षित नियुक्ति के लिए भटक रहे हैं। सरकार इस पर गौर करती नहीं दिख रही है।

उल्टे अब प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए रिटायर्ड शिक्षकों की सेवा लेने की बात कर रहे हैं। इससे प्रशिक्षित बेरोजगारों में आक्रोश है। कुमाऊं मंडल में दिए गए शिक्षा मंत्री पांडे के इस बयान पर बेरोजगारों की तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही हैं।

आने वाले दिनों में इसको लेकर प्रचंड बहुमत वाली सरकार की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। कारण सरकार में शिक्षा विभाग को लेकर जो कुछ चल रहा है उससे प्रशिक्षित बेरोजगार आशंकित होने लगे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आम आदमी पार्टी ने बढ़ाया कई दिग्गज नेताओं का ब्लड प्रेशर

पौड़ी। आम आदमी पार्टी ने प्रदेश के राजनीति