राज्य के उद्योगों पर पर्यावरण का शिकंजा

राज्य के उद्योगों पर पर्यावरण का शिकंजा

inहरिद्वार। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के सख्त रवैए के बाद राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने उद्योगों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

ये बात किसी से छिपी नहीं है कि राज्य में लगे तमाम उद्योगों में पर्यावरण मानकों की अनदेखी हो रही है। खतरनाक अपशिष्ठ पदार्थों का निस्तारण प्रॉपर तरीके से नहीं हो रहा है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा जारी एनओसी पर भी सवाल खड़े होते रहे हैं।

इसको लेकर तमाम शिकायतें भी रही हैं। उद्योगों के अपशिष्ठ से जल राशियों के प्रदूषित होने के आरोप आम हैं। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने इस मामले में कड़ा रूख अख्तियार कर लिया है। ये देखते हुए अब राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भी खासा सक्रिय हो गया है।

पर्यावरण मानकों की अनदेखी कर रहे उद्योगों को बोर्ड ने रडार पर ले लिया है। देहरादून के सेलाकुई, हरिद्वार, रूड़की, हल्द्वानी, ऊधमसिंह नगर में स्थित औद्योगिकी इकाइयों के पर्यावरण मानकां को देखा जा रहा है। एक-एक मामले की समीक्षा हो रही है।

सूत्रों की माने तो इस बार प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड किसी भी स्तर पर ढील देने को तैयार नहीं है। कहा जा सकता है कि उद्योगों को हर हाल में पर्यावरण मानकों का पालन करना ही होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आम आदमी पार्टी ने बढ़ाया कई दिग्गज नेताओं का ब्लड प्रेशर

पौड़ी। आम आदमी पार्टी ने प्रदेश के राजनीति