देवप्रयाग में स्वास्थ्य कर्मियों का आमरण अनशन, महिला की तबियत बिगड़ी

देवप्रयाग में स्वास्थ्य कर्मियों का आमरण अनशन, महिला की तबियत बिगड़ी

- in टिहरी
0

देवप्रयाग। 15 माह से वेतन न मिलने के विरोध में स्वास्थ्य कर्मियों का आमरण अनशन तीसरे दिन भी जारी रहा। अनशनरत एक महिला कर्मी की तबियत बिगड़ गई। जबकि कुछ के स्वास्थ्य में गिरावट आने लगी है।

वेतन की मांग को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों का आमरण अनशन रविवार को तीसरे दिन भी जारी रहा। कर्मियों के समर्थन में आमरण अनशन पर बैठे नगर पालिका के अध्यक्ष कृष्ण कांत कोटियाल का वजन तीन किलो घट गया।

महिला स्वास्थ्य कर्मी श्रीमती शशि मिश्रा के तबियत दोपहर बाद अचानक बिगड़ गई। दूसरी महिला कर्मी मोहनी रावत को बीपी की समस्या पैदा हो गई।
सुबह प्रभारी चिकित्साधिकारी के नेतृत्व में डाक्टर्स ने अनशनरत कर्मियों के स्वास्थ्य की जांच की। इस बीच, स्वास्थ्य कर्मियों के समर्थन में क्षेत्र के लोग भी सामने आने लगे हैं। सभी ने एक स्वर में कहा कि भाजपा की प्रदेश सरकार कर्मचारियों के साथ अन्याय कर रही है।

महिलाओं के आदर और स्वाभिमान की बात करने वाली भाजपा के राज में महिला कर्मियों को वेतन के लिए अनशन करना पड़ रहा है। आमरण अनशन पर बैठे नगर पालिका के अध्यक्ष कृष्ण कांत कोटियाल ने कहा कि सरकार और स्वास्थ्य विभाग 15 माह से कर्मियों की धैर्य की परीक्षा ले रहा है।

कर्मचारी अनशन कर रहे हैं तो अधिकारी ठोस आश्वासन तक देने को तैयार नहीं हैं। इसको लेकर लोगों में नाराजगी है। विभागीय अधिकारियों को कई बार सारी वस्तु स्थिति से अवगत करा दिया गया है। तीसरे दिन अनशन पर पालिकाध्यक्ष कृष्ण कांत कोटियाल के अलावा सुनील मिश्रा, अनूप भटट, शशि मिश्रा, मोहनी रावत, विश्वनाथ कोटियाल शामिल हैं।

यह भी पढ़ेः अनशनकारी स्वास्थ्य कर्मियों को मनाने पहुंची डिप्टी सीएमओ बैरंग लौटी

यह भी पढ़ेः वेतन न मिलने से नाराज स्वास्थ्य कर्मी आमरण अनशन पर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

भाजपा उत्तराखंड से किसे भेजेगी राज्य सभा

देहरादून। भाजपा उत्तराखंड के किस नेता को राज्य