गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज चिन्यालीसौड़ में क्रांतिकारी स्लोगन के माध्यम से याद किए गए नेता जी

गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज चिन्यालीसौड़ में क्रांतिकारी स्लोगन के माध्यम से याद किए गए नेता जी

- in उत्तरकाशी
0

चिन्यालीसौड़। गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, चिन्यालीसौड़ में छात्रों ने क्रांतिकारी स्लॉगन के साथ जंगे आजादी के प्रमुख नायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस को उनकी जयंती पर याद किया।

गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, चिन्यालीसौड़ में राष्ट्रीय सेवा योजना के तत्वाधान में ऑनलाइन माध्यम से स्वयं सेवियों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी की जयंती के अवसर पर क्रांतिकारी स्लोगन, कविता वह पोस्टर के माध्यम से उनके महानयोगदान को याद किया और सादर नमन किया।

कॉलेज की प्रिंसिपल प्रो. संगीता मिश्रा ने छात्र छात्राओं का उत्साह वर्धन किया और कहा कि पूरा राष्ट्र नेताजी को उनकी जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मना रहा है । नेता जी ने अपने अनगिनत अनुयायियों में राष्ट्रवाद की भावना का संचार किया।

भारत के स्वतंत्रता संग्राम में असाधारण योगदान देने वाले नेता जी हमारे सबसे प्रिय राष्ट्र नायकों में से एक हैं उनकी देशभक्ति और बलिदान से हमें सदैव प्रेरणा मिलती रहेगी।

राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी डॉ मंजू भंडारी ने कहा कि भारत मां की महानतम स्वतंत्रता सेनानियों में से एक नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी का नाम युगों युगों तक इतिहास में अमर रहेगा उन्होंने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी तथा जापान के सहयोग से आजाद हिंद फौज का गठन किया था।

देश को आजादी दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी आज हम 23 जनवरी को उनकी जयंती पर उनके क्रांतिकारी विचारों को अपनाकर अपने भीतर एक मशाल भारत मां के उत्थान के लिए सतत जलाए रखने का संकल्प लेते हैं इस अवसर पर महाविद्यालय के सभी प्राध्यापकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों ने नेता जी शुभाष चंद्र बोस जी को याद किया नमन किया ।इस अवसर पर दे की छात्र छात्राओं में कसक नौटियाल,प्रियंका,विजय लक्ष्मी, स्वेता रावत, नितेश,प्रवेश नोटियाल,दीपांशी आदि स्वयं सेवियों ने क्रांतिकारी स्लोगन ,कविता व पोस्टर के माध्यम से उन्हें याद किया व नमन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

डाल्फिन इंस्टीटयूट में लैंगिक समानता पर कार्यशाला

देहरादून। महिलाएं गरिमा के साथ आगे बढ़कर देश