मजाक बनी ऋषिकेश पीजी  कॉलेज की ऑटोनोमी

मजाक बनी ऋषिकेश पीजी  कॉलेज की ऑटोनोमी

- in ऋषिकेश
0

ऋषिकेश। प्रदेश के उच्च शिक्षा विभाग ने उत्तराखंड के एक मात्र ऑटोनोमस कॉलेज की ऑटोनोमी को मजाक बना दिया है। अनिवार्य स्थानांतरण की आंधी ने इस कॉलेज के वाणिज्य संकाय को हिलाकर रख दिया है।

गवर्नमेंट पीजी कॉलेज ऋषिकेश राज्य का एक मात्र ऑटोनोमस कॉलेज है। यूजीसी से मिली इस ऑटोनोमी को राज्य सरकार ने कभी तवज्जो नहीं दी। परिणाम सरकारी तौर तरीकों ने इसकी ऑटोनोमी को मजाक बनाकर रख दिया है। कॉलेज के वाणिज्य संकाय का तो बुरा हाल हो गया।

यहां प्राध्यापकों की कुल स्वीकृत पदों में से 70 फीसदी पद रिक्त हो गए हैं। हाल ही में हुए तबादले में यहां से दो प्राध्यापकों को हटा दिया गया है। इनके स्थान पर किसी को नहीं भेजा गया। अब सवाल उठता है कि आखिर वाणिज्य संकाय की आठ कक्षाओं को तीन प्राध्यापक कैसे पढ़ाएंगे।

कैसे संकाय की अन्य गतिविधियों को अंजाम दिया जाएगा। इसको लेकर कॉलेज प्रशासन परेशान है। जल्द ही इसके असर भी दिखने लगेंगे। कॉलेज के प्रिंसिपल डा. एनपी माहेश्वरी ने माना की कॉमर्स को लेकर परेशानी है। अधिकांश प्राध्यापकों के तबादले हो गए हैं। उनके स्थान पर कोई नहीं आया।

स्नातक के छह कक्षाएं और परास्नातक की दो कक्षाओं का संचालन मुश्किल हो गया है। इस समस्या से उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। भरोसा मिला है कि जल्द इसका निदान किया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आम आदमी पार्टी ने बढ़ाया कई दिग्गज नेताओं का ब्लड प्रेशर

पौड़ी। आम आदमी पार्टी ने प्रदेश के राजनीति