पात्र लोगों तक पहुंचे योजनाओं का लाभः राज्यपाल

पात्र लोगों तक पहुंचे योजनाओं का लाभः राज्यपाल

- in पौड़ी
0

पौड़ी। सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लोगों तक पहुचंना सुनिश्चित किया जाए। कुपोषित बच्चों पर अधिकारी खास ध्यान देकर उन्हें कुपोषण से मुक्त करें।

ये कहना है राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य का। राज्यपाल ने बुधवार को सर्किट हाउस में जन मुलाकात के उपरान्त जिला स्तरीय विभागों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में उन्होंने बाल विकास विभाग की ओर से ऊर्जा फूड दिये जाने वाले कुपोषित बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य सुधार के लिए जिला स्तरीय अधिकारियों को गोद लेकर बच्चों को कुपोषण से बाहर लाने के निर्देश दिये।

उन्होंने केन्द्र व राज्य एवं बाह्य पोषित योजना के तहत की गई कार्यों की जानकारी ली। जबकि समाज कल्याण विभाग एवं बाल विकास विभाग के कल्याणकारी योजनाओं से लोगों को अधिकाधिक लाभांवित करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये।

उन्होंने जनपद में जिलाधिकारी द्वारा टैली कन्सेलटेशन सर्विस के तहत ऑनलाइन स्वास्थ्य परामर्श सेवा भू-लेख का डिजिटाइजेशन करने के कार्य की सराहना की। कंडोलिया में पार्क को जिलाधिकारी, एसएसपी एवं डीएफओ को और बेहतर बनाने के निर्देश दिये।

पुलिस प्रशासन द्वारा नशामुक्ति के प्रति जागरूकता अभियान चलाये जाने के बारे में जानकारी ली। कहा कि बच्चों को नशे की तरफ जाने से रोकना हमारा मकसद है। उन्होंने प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को दी जाने वाली आर्थिक सहायता एवं जनपद में संचालित आंगनवाड़ी तथा महिला सशक्तिकरण को लेकर किये गये कार्यों की जानकारी ली।

आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत कार्यों की जानकारी तथा जनपद में स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रत्येक ब्लाक पर डाक्टर टीमों द्वारा आंगनबाड़ी में जाकर रोगियों को चिन्हित कर आरबीएस के तहत स्वास्थ्य उपचार कराये जाने वाले कार्यों को अग्रेत्तर बनाये रखने के निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिये।

उन्होंने पर्यटन, पशुपालन, मत्स्य व मनरेगा के तहत विभिन्न योजनाओं के तहत क्षेत्र में रोजगार मुहैया कराने हेतु मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया। कहा कि लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिलने से पलायन पर रोक लगाई जा सकती है। शिक्षा, विद्युत, जिला पूर्ति सहित अन्य विभागों की योजनाओं की भी समीक्षा की गई।

इस मौके पर आयुक्त शैलेश बगोली, डीआईजी गढ़वाल परिक्षेत्र अजय रौतेला आदि अधिकारी मौजूद थे। इससे पूर्व महामहिम राज्यपाल ने स्थानीय लोगों की फरियाद एवं समस्या सुनी। जबकि एनआरएलएम के तहत गठित स्वयं सहायता समूह के द्वारा की गई कार्यों की जानकारी लेते हुए उन्हें और बेहतर बनाने तथा महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने को कहा।

साथ ही केंद्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ लेने को कहा। उन्होंने महिला समूहों द्वारा किये गये जा रहे कार्यों को सराहनीय बताया। महिलाओं ने फसल की जानवरों से फसल नष्ट होने की समस्या भी रखी। जिस पर उन्होंने चकबंदी खेती को बढ़ावा देने एवं समस्या के निस्तारण हेतु कार्य करने का आश्वासन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सीएमओ के आश्वासन पर पालिकाध्यक्ष और स्वास्थ्य कर्मियों का अनशन स्थगित

देवप्रयाग। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के संविदा कर्मियों के