जीआईसी अधारियाखाल में कॅरियर काउंसिलिंग कार्यशाला

जीआईसी अधारियाखाल में कॅरियर काउंसिलिंग कार्यशाला
Spread the love

जयहरीखाल। जीआईसी अधारियाखाल कॅरियर गाइडिंग काउंसिलिंग शिविर में गवर्नमेंट पीजी कॉलेज लैंसडौन के प्राध्यापकों ने छात्रों को कॅरियर के टिप्स दिए।

बुधवार को जीआईसी अधारियाखाल में आयोजित र गाइडिंग काउंसिलिंग शिविर में छात्र/छात्राओं को 12 वीं के बाद कॅरियर की संभावनाओं के बारे में जानकारी दी गई। गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, लैंसडौन के प्राध्यापकों ने इसमें छात्रों का मागर्दर्शन किया।

बताया कि कॅरियर को लेकर स्पष्टता होनी चाहिए। ताकि उसी दिशा में योजना के साथ तैयारी की जा सकें। डॉ. अभिषेक कुकरेती के द्वारा सिविल सेवा की तैयारी में प्रत्येक विषय का सारभर्मित अध्ययन व एप्टीटयूड टेस्ट की अंतिम चयन में भूमिका को विस्तार से बताया।

डॉ. अजय रावत ने रक्षा क्षेत्र में जल, थल व वायु सेना में सैनिक से लेकर अधिकारी पद तक सीडीएस के माध्यम से चयन व शारीरिक दक्षता को कुशल बनाने के बारे में बताया। डा. अर्चना नौटियाल ने स्नानकोत्तर के बाद उच्च शिक्षा में कैरियर बनाने हेतु नेट व स्लेट परीक्षा क्वालीफाई करने, पी0एचडी व लोक सेवा आयोग के माध्यम से प्रोफेसर बनने के गुर बताए।

डॉ. श्रदा भारती ने बी0एड के बाद राजकीय विद्यालयों में किस प्रकार अध्यापक पात्रता परीक्षा पास करके सहायक अध्यापक व प्रवक्ता के पद पर अपना कैरियर बनाने सम्बन्धी सुझाव दिए इस अवसर पर छात्र-छात्राओ ने उचित कैरियर बनाने हेतु प्राध्यापकों से सवाल जबाब किए।

विद्यालय के प्रिंसिपल अनूप थपलियाल ने प्राध्यापकों को आभार जताया और रोजगार निर्देशन हेतु इस प्रकार के आयोजनों को हर छह माह में राज्य के सभी विद्यालयों में होना जरुरी बताया क्योंकि इस प्रकार के आयोजनों से दिशाहीन बच्चों को अपना कैरियर चुनने में बहुत आसानी हो जायेगी इस अवसर पर प्रधानाचार्य अनूप थपलियाल, परितोष रावत, सुनील खंतवाल, अशोक भारद्वाज, सोबेंद्र जोशी, सीमा सजवाण अतुल निधि गौनियाल मौजूद थे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.