श्री देव सुमन यूनिवर्सिटी के अंग्रेजी विभाग में लिटररी एसोसिएशन का गठन

श्री देव सुमन यूनिवर्सिटी के अंग्रेजी विभाग में लिटररी एसोसिएशन का गठन
Spread the love

ऋषिकेश। श्री देव सुमन उत्तराखंड यूनिवर्सिटी के ऋषिकेश परिसर स्थित अंग्रेजी विभाग में लिटररी एसोसिएशन का गठन किया गया। साथ ही एसोसिएशन के बैनर तल हुई शैक्षणिक प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया।

निबंध प्रतियोगिता में अंजलि बिष्ट, स्वाति मिश्रा एवं कंचन ने क्रमश प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया। पोस्टर प्रतियोगिता में विनीता रावत, शालिनी पाल एवं सौरव भण्डारी जबकि रचनात्मक लेखन प्रतियोगिताश् में ईशिता उपाध्याय, अर्चना बगियाल एवं कृपेश पाण्डेय ने क्रमश प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया।

भाषण प्रतियोगिता में शिवानी सजवाण, कृपेश पाण्डेय एवं श्रृष्टि गौड़ तथा तात्कालिक भाषण प्रतियोगिता में श्रृष्टि आर्य, आकाश भट्ट एवं प्रिया बधानी ने क्रमश प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया।

प्रतियोगिताओं के आयोजन एवं पुरस्कार वितरण से पूर्व विभागीय परिषद-अंग्रेजी द्वारा लिटररी  एसोसिएशन का गठन किया गया, जिसमें स्नातक से स्नातकोत्तर की प्रत्येक कक्षा को प्रतिनिधित्व देते हुए एमए तृतीय वर्ष की ईशिता उपाध्याय को अध्यक्ष, एमए प्रथम वर्ष की अन्वेषा सिंह को उपाध्यक्ष, बी0ए0 पंचम वर्ष की प्राप्ति को सचिव, बीए द्वितीय वर्ष के चिराग शर्मा को कोषाध्यक्ष एवं बी0ए0 प्रथम वर्ष की श्रृष्टि आर्य को सह-ंउचयसचिव पद का दायित्व प्रदान किया गया। पुरस्कार वितरण के अवसर पर कला संकायाध्यक्ष प्रो. डीसी गोस्वामी ने पुरस्कार के रूप में पुस्तकों के वितरण की सरहाना की।

अंग्रेजी के विभागाध्यक्ष प्रो हेमन्त कुमार शुक्ला ने कहा कि लिटररी एसोसिएशन के तहत समय-ंसमय पर विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती रहेंगीं एवं व्याख्यानमाला एवं आमंत्रित व्याख्यानों का आयोजन किया जाएगा।

प्रतियोगिताओं के निर्णायक मंडल में सम्मिलित वाणिज्य विभाग के प्रो. श्रीवास्तव, शिक्षा विभाग के डॉ. अटल बिहारी त्रिपाठी एवं शारीरिक शिक्षा विभाग के डॉ. पुष्कर गौड़ ने अपने उद्बोधनों में विद्यार्थियों के उत्साह एवं समर्पण की काफी प्रशंशा की पुरस्कार वितरण समारोह का संचालन अंग्रेजी विभाग की डॉ. पारूल मिश्रा ने किया जबकि डॉ. प्रमोद कुकरेती ने धन्यवाद ज्ञापन दिया।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.