संतों के उदघोष से गूंजा देवप्रयाग, गंगाद्वार पर लगाई पुण्य की डुबकी

संतों के उदघोष से गूंजा देवप्रयाग, गंगाद्वार पर लगाई पुण्य की डुबकी

- in धर्म-तीर्थ
0

देवप्रयाग। कुंभ-2021 के पहले स्नान पर सतयुग के तीर्थ देवप्रयाग के संगम ( गंगाद्वार ) पर हजारों संत महात्माओं और श्रृद्धालुओं ने पुण्य की डुबकी लगाई। साथ ही देवप्रयाग के महात्म पर भी मुहर लगाई। 

षडदर्शन साधु समाज की पहल पर सतयुग के तीर्थ देवप्रयाग में गंगा के प्रारंभिक स्थल पर हुए महाकुंभ के पहले स्नान पर देश भर से सैकड़ों संत जुटे। षड्दर्शन साधु समाज व अखिल भारतीय सनातन धर्म रक्षा समिति के बैनर तले संतो ने छड़ी पूजन कर देवप्रयाग के संगम पर डुबकी लगाई। इस दौरान संगम पर संत महात्माओं के उदघोष से सतयुग का तीर्थ गूंज उठा।

इससे पूर्व संतों का सतयुग के तीर्थ पहुंचने पर चारधाम तीर्थ पुरोहित हक हकूकधारी महापंचायत, बद्रीश पंडा पंचायत, व्यापार सभा, स्थानीय लोगों ने परंपरागत वाद्य यंत्रों के साथ अभिनंदन किया। जम्मू कश्मीर से पहुंचे ,शारदा पीठ के जगतगुरु शंकराचार्य शारदा पीठ के स्वामी अनंतानंद ने कहा कि मकर संक्रांति से कुंभ शुरू हो गया है। उन्होंने इस स्नान को शाही स्नान बताया।

देवप्रयाग संगम पर स्नान किए जाने का पुराणों में भी जिक्र है। कहा कि देवप्रयाग संगम को भागीरथी और अलकनंदा का मिलन होने के कारण गंगा का उद्गम स्थल भी कहा जाता है। जिसके कारण इसे गंगाद्वार के नाम से भी जाना जाता है।

देश के विभिन्न स्थानों से पहुंचे संत महात्माओं द्वारा देवप्रयाग की पवित्रता, महात्मा पर लगाई गई मुहर का चार धाम तीर्थ पुरोहित हक हकूकधारी महापंचायत के अध्यक्ष कृष्ण कांत कोटियाल ने स्वागत किया। कहा कि संत महात्माओं ने चेतना का जो संचार किया है उसके लिए देवप्रयाग उनका ऋणी रहेगा। साथ ही इस चेतना के संरक्षण और संवर्द्धन हेतु समाज हमेशा प्रयासरत रहेगा।

इस मौके पर आचार्य शैलेंद्र कोटियाल, अशोक टोडरिया, एडवोकेट रमा बल्लभ भटट, श्याम लाल पंचपुरी, सुरेश कोटियाल, वेद प्रकाश भटट, उत्तम भटट, अत्रेश ध्यानी, जय प्रकाश डंगवाल, शशि पंचभैया, ध्रुव नारायण बंदोलिया, नटवर कोटियाल, सुनील पालीवाल, अंजू भटट, शुभांगी कोटियाल,प्रियंका टोडरिय, रजनी देवी टोडरियाल, मीना ध्यानी, पुरूषोत्तम तिवाड़ी, काशी प्रसाद भटट, जयप्रकाश डंवाल, माधव मेवाड़गुरू, सीताराम रणाकोटी, अनुराग ध्यानी, राहुल कोटियाल, सुधीर ध्यानी, आचार्य सरोज कोटियाल ,उदय टोडरिया आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

नौ गवर्नमेंट डिग्री कॉलेजों को मिले प्रिंसिपल

देहरादून। शासन ने आठ डिग्री कॉलेजों में प्रिंसिपल