पूर्व प्रधान स्व. प्रेम सिंह बिष्ट की स्मृति में रक्तदान शिविर

पूर्व प्रधान स्व. प्रेम सिंह बिष्ट की स्मृति में रक्तदान शिविर

- in ऋषिकेश
0

ऋषिकेश। पूर्व ग्राम प्रधान स्व. प्रेम सिंह बिष्ट की स्मृति में आयोजित रक्तदान शिविर का प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने रक्तवीरों की हौसलाफजाई की।

सोमवार को अंतरराष्ट्रीय रक्तदाता दिवस पर भाजपा के सेवा ही संगठन है कार्यक्रम अंतर्गत ऋषिकेश ग्राम सभा के पूर्व प्रधान स्वर्गीय प्रेम सिंह बिष्ट की स्मृति में इन्दिरा नगर क्षेत्र में आयोजित रक्तदान शिविर में लोगों ने बढ़ चढकर शिरकत की।

विभिन्न सामाजिक ,व्यापरिक एवं समाजहित में कार्य कर रहे तमाम क्लबों के सहयोग से आयोजित हुए स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में सैकड़ों रक्तवीरों ने आगे आकर संकल्प के साथ रक्तदान कर इस पुनित यज्ञ में अपनी सहभागिता निभाई।

कैंप के अवलोकन के बाद पूर्व मुख्यमंत्री व जिला प्रभारी ने कोरोना महामारी का शिकार हुए लोगों की स्मृति में पौधारोपण के साथ ट्रेचिंग ग्राऊंड का निरीक्षण कर बारीकी से गोविंद नगर स्थित खाली भूखंड में कूड़े के निस्तारण एवं शिफ्टिंग के लिए चल रहे प्रोजेक्ट की विस्तृत जानकारी ली।

महापौर अनिता ममगाई के विशेष प्रयास एवं शहर के सबसे बड़े रक्तवीर पार्षद राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट के संयोजन में आयोजित हुए रक्तदान शिविर का शुभारंभ पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पूर्व प्रधान स्व प्रेम सिंह बिष्ट के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर किया।इस अवसर पर उन्होंने रक्तदान कर रहे युवकों की उन्होंने जमकर सराहना की। साथ ही कहा कि इसी तरह से रक्तदान करते रहें।

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि रक्त से बड़ा कोई दान नहीं है। प्रत्येक स्वस्थ व्यक्ति को रक्तदान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन को लेकर अभियान चल रहा है।

सभी लोग कोरोना वैक्सीन अनिवार्य रूप से लगवा लें, लेकिन इस वैक्सीन को लगवाने से पहले, खासकर युवा रक्तदान जरूर करें, ताकि किसी में खून की कमी न हो।इस अवसर पर भाजपा के जिला प्रभारी अनिल गोयल ने कैम्प आयोजकों सहित रक्तदान कर रहे युवकों से मुलाकात की।

उन्होंने कहा कि 18 से 45 वर्ष के बीच की आयु वाले लोग सबसे अधिक रक्तदान करते हैं। इसी वजह से यह मुहिम चलाई है, ताकि लोग अधिक से अधिक लोग टीका लगवाने से पहले रक्तदान कर सकें। जिससे कहीं पर भी रक्त की कोई कमी न पड़ सके।

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर प्रदेश सरकार पूरी तरह से तैयार है। किसी भी स्तर पर कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। रक्तदान शिविर के आयोजन में मुख्य भूमिका निभाने वाली नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने बताया कि कोरोना संकट ने रक्तदान की राह रोक दी है, जिस कारण ब्लड बैंकों में रक्त की काफी कमी है। खासतौर से निगेटिव ग्रुप के रक्त की।

सर्वाधिक जरूरत सीजेरियन आपरेशन व दुर्घटना में घायल लोगों के लिए है। मरीजों की जिंदगी बचाने के लिए तीमारदारों को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। इसी को ध्यान में रख स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किया गया है।उन्होंने कहा कि इस समय भी सुरक्षित रहकर रक्तदान किया जा सकता है।

रक्तदान किसी भी जरूरतमंद को एक नई जिंदगी दे सकता है।,कैम्प संयोजक राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट, पूर्व राज्य मंत्री संदीप गुप्ता,जिला पंचायत सदस्य संजीव चौहान, नगर उधोग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के महासचिव प्रतीक कालिया,रोटरी ऋषिकेश सैंट्रल के अध्यक्ष हितेंद्र पंवार,पूर्व प्रधानाचार्य डीबीपीएस रावत,पंकज शर्मा, राजू शर्मा , विजय बडोनी ,विजेंद्र मोगा , रोमा सहगल, यशवंत रावत नरेंद्र रावत,संजय कुमार वर्मा ,जितेंद्र अग्रवाल आदि मौजूद रहे।

संजीव चौहान, कृष्ण कुमार सिंघल, सुरेंद्र मोघा, चित्रमणि देशवाल, डी बी एस रावत जी, डी पी रतूड़ी जी ,नरेंद्र रावत जिला अध्यक्ष किसान मोर्चा,,ज्योति सजवाण जी, राजेन्द्र बिष्ट,विपिन पंत, मनीष बनवाल, प्रदीप धस्माना,चेतन शर्मा, राजपाल ठाकुर, राम रतन रतूड़ी, पुष्प राज जी, संजय कुमार, बिजेंद्र मोघा, विजय बडोनी, देवदत्त शर्मा, लक्ष्मी रावत, अनिता प्रधान, प्रिया ढकाल, यशवंत रावत, रोमा सहगल, ममता, शशांक, विकास सेमवाल, हरीश रतूड़ी, पुष्पा मित्तल, हेमलता चौहान, किशन मण्डल आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

प्रकृति की सत्ता को स्वीकारना होगाः डा. मधु थपलियाल

देहरादून। जलवायु परिवर्तन से तेजी से छीज रही