ऑटोनोमस कॉलेजः आर्थिक मदद का लाभ उठाने में लापरवाही

ऑटोनोमस कॉलेजः आर्थिक मदद का लाभ उठाने में लापरवाही

- in ऋषिकेश
0

ऋषिकेश। राज्य का एक मात्र ऑटोनोमस कॉलेज यानि गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, ऋषिकेश ऑटोनोमी के तहत यूजीसी से मिलने वाली आर्थिक मदद का लापरवाही के चलते लाभ नहीं उठा सका।

ऋषिकेश कॉलेज को वर्ष 2010-11 में ऑटोनोमी स्टेटस से नवाजा गया। 2016 में इसे विस्तार कर 2021 तक कर दिया गया। आठ सालों के ऑटोनोमस स्टेटस पर नजर दौड़ाएं तो तमाम सरकारी बाधाओं के बावजूद एकैडमिक स्तर पर निसंदेह सुधार हुए हैं। मगर, आर्थिक प्रबंधक को सही तरीके से हैंडल न किए जाने से कॉलेज का लाभ नहीं मिला

उल्लेखनीय है कि ऑटोनोमी के तहत कॉलेज को हर वर्ष विभिन्न मदों लाइब्रेरी, फर्नीचर, लैब, परीक्षा सुधार, सेलबस अपग्रेडेशन, स्किल डेवलेपमेंट में 20 लाख मिलने थे। इस पर कॉलेज की ओर से ध्यान नहीं दिया गया।

यूजीसी से जो धनराशि मिली उसके उपयोग की प्रॉपर जानकारी नहीं दी गई। परिणाम यूजीसी से ग्रांट जारी नहीं हुई। खामियाजा कॉलेज को भुगतना पड़ा। कुल मिलाकर लापरवाही से कॉलेज को नुकसान हुआ है। हालांकि अब दो सालों से स्थिति कुछ प्रॉपर हो रही है।

लेज के प्रिंसिपल प्रोफेसर एनपी माहेश्वरी ने माना की बीच के सालों में ग्रांट प्रोपर नहीं मिली। इसकी तमाम वजह रही। 2017 के बाद यूजीसी से मिलने वाले ग्रांट के लिए प्रॉपर प्रयास किए जा रहे हैं। इसका लाभ भी कॉलेज को मिलने लगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

परियोजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने के निर्देश

देहरादून। वाह्य सहायतित परियोजनाओं के अंतर्गत संचालित परियोजनाओं